DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काम की खबर: रिम्स के जूनियर डॉक्टर शुक्रवार से हड़ताल पर, प्रभावित होगी चिकित्सा व्यवस्था

रिम्स के 600 जूनियर और सीनियर रेसिडेंट डॉक्टर शुक्रवार से हड़ताल पर जाएंगे। पहले दिन दूसरी पाली में चलने वाले ओपीडी का बहिष्कार करेंगे और शनिवार को सुबह से ही ओपीडी बंद कराया जाएगा। यह निर्णय जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जेडीए) की बैठक में बुधवार को लिया गया। इसके बाद भी अगर उनकी मांगें नहीं मानी जाती है, तो रविवार की सुबह से ही डॉक्टर निदेशक चैंबर के बाहर भूख हड़ताल पर बैठेंगे। जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जेडीए) अध्यक्ष डॉ अजित ने बताया कि पिछले नौ माह से वे सातवां वेतनमान देने की मांग कर रहे हैं , लेकिन अभी तक उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। अपनी मांगों व आंदोलन की जानकारी लिखित रूप में जेडीए ने रिम्स निदेशक को सौंप दिया है। 
 

विभाग से लेकर रिम्स प्रबंधन नहीं है गंभीर : जेडीए
उन्होंने आगे बताया कि स्वास्थ्य विभाग से लेकर रिम्स प्रबंधन इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रहा है। जब भी बात की जाती है तो 15 दिनों के अंदर देने का वादा किया जाता है। फिर फाइल विभाग के अधिकारियों के पास फंसे होने की बात कही जाती है। जेडीए ने विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल करते हुए कहा कि सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद भी मामला अटका है। 12 जुलाई को हुए रिम्स शासी परिषद की बैठक में भी इसे हरी झंडी दे दी गई थी।  
 

ओपीडी बंद होने से चरमरा सकती है चिकित्सा व्यवस्था 

रिम्स ओपीडी में हर दिन लगभग 1600 मरीज आते हैं। इनमें राजधानी से लेकर सुदूर इलाकों से मरीज  इलाज कराने पहुंचते हैं। लेकिन अगर डॉक्टरों की हड़ताल शुरू होती है तो फिर एक बार चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह चरमरा सकती है। ओपीडी के बहिष्कार में सीनियर डॉक्टरों का भी समर्थन मिलने की उम्मीद जेडीए को है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kaam ki khabar : RIMs Junior Doctor will be affected on strike on Friday medical system will be affected