DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › जज मौत मामला: एसआईटी ने 35-40 लोगों की जुटाई जानकारी, एडीजे ने जिन्हें सुनाई थी सजा उनसे भी हुई पूछताछ
झारखंड

जज मौत मामला: एसआईटी ने 35-40 लोगों की जुटाई जानकारी, एडीजे ने जिन्हें सुनाई थी सजा उनसे भी हुई पूछताछ

मुख्य संवाददाता,धनबादPublished By: Sneha Baluni
Wed, 04 Aug 2021 08:15 AM
जज मौत मामला: एसआईटी ने 35-40 लोगों की जुटाई जानकारी, एडीजे ने जिन्हें सुनाई थी सजा उनसे भी हुई पूछताछ

जिला एवं सत्र न्यायाधीश-8 उत्तम आनंद की मौत मामले में एसआईटी ने मंगलवार को उनके न्यायालय में चल रहे अहम मुकदमों के आरोपियों से पूछताछ की। साथ ही मामला दर्ज कराने वालों को भी बुला कर पुलिस टीम ने उनसे जानकारी जुटाई। करीब 35 से 40 लोगों को चिह्नित कर उनसे पुलिस ने जज की मौत मामले में जानकारी जुटाई। 

रंजय सिंह की हत्या के आरोपी धैया निवासी झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह के देवर हर्ष सिंह और इसी केस के आरोपी रांची होटवार जेल में बंद शूटर नंद कुमार उर्फ रूना सिंह उर्फ मामा से पूछताछ की गई। धनबाद से पूछताछ के लिए एक टीम मंगलवार की सुबह रांची गई थी। 

होटवार जेल में बंद मामा के अलावा टीम ने नीरज सिंह हत्याकांड के शूटर अमन सिंह से भी पूछताछ की। बता दें कि जज ने मौत से चंद दिन पहले अमन सिंह के गुर्गों की जमानत याचिका खारिज की थी। पुलिस ने उत्तम आनंद के न्यायालय में चल रहे अहम मामलों के अलावा उन मामलों को चिह्नित किया था, जिसमें हाल के दिनों में एडीजे-8 ने या तो सजा सुनाई थी या फिर किसी बंदी की जमानत याचिका खारिज की थी। 

पुलिस की एक टीम मंगलवार को दोबारा धनबाद जेल पहुंची। बताया जा रहा है कि धनबाद जेल में अमन सिंह के गुर्गे कतरास निवासी रवि ठाकुर और लखनऊ से जनवरी में गिरफ्तार किए गए अमन सिंह के करीबी अभिनव प्रताप सिंह से जज की मौत मामले में कई सवाल किए गए। दोनों की बेल उत्तम आनंद ने ही खारिज की थी।

उत्तम आनंद ने तीन अप्रैल 2021 को पत्नी पर किरासन छिड़क कर आग में झोंकने वाले आरोपी पति केंदुआडीह निवासी गुड्डू पासवान को उम्र कैद की सजा सुनाई थी। इसके अलावा 25 जून को उत्तम आनंद की कोर्ट से ही शंकर प्रसाद और उसके भाई शंभू प्रसाद को भी आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी जबकि इन दोनों के भाई कैलाश प्रसाद को 10 साल की कैद की सजा हुई थी। 

पुलिस ने सजा काट रहे इन आरोपियों की भी भूमिका की जांच की। इन सभी लोगों की कुंडली जुटा कर एसआईटी जांच कर रही है। पता लगाया जा रहा है कि इन आरोपियों के संबंध कहीं ऑटो चालक लखन वर्मा या राहुल वर्मा से तो नहीं। सजायाफ्ता के परिवार वालों की भी जानकारी जुटाई गई है।

रंजय की पत्नी रूमी व पिता बच्चू से टीम ने ली जानकारी

एसआईटी ने झरिया के पूर्व विधायक संजीव सिंह के करीबी रंजय सिंह की हत्या के सभी पहलुओं की समीक्षा की। रंजय सिंह हत्याकांड की अब तक की अपडेट जुटाई गई। पुलिस को जानकारी मिली कि इस कांड में शूटर की भूमिका निभाने के आरोपी मामा होटवार जेल में बंद है जबकि साजिश के आरोपी हर्ष सिंह जमानत पर जेल से बाहर हैं। 

इन दोनों से पूछताछ करने के साथ-साथ पुलिस टीम ने रंजय सिंह की पत्नी रूमी सिंह तथा उनके पिता केशव सिंह उर्फ बच्चू सिंह को भी धनबाद बुलाकर पूछताछ की। सोमवार को ही रूमी और बच्चू को पूछताछ के लिए नोटिस दिया गया था। 

धनबाद एसएसपी संजीव कुमार ने कहा, 'केस से जुड़े आरोपियों और पीड़ितों से पूछताछ की गई। टीमों को धनबाद और रांची जेल भी भेजा गया था। सभी टीमें लौटेंगी तो उनसे पूछताछ में आए तथ्यों की समीक्षा कर जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।'

संबंधित खबरें