ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडभाजपा में आने के 59 दिन बाद JMM को आई ऐक्शन की याद, सीता सोरेन को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला  

भाजपा में आने के 59 दिन बाद JMM को आई ऐक्शन की याद, सीता सोरेन को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला  

झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन को झामुमो ने पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। सीता सोरेन ने भाजपा ज्वाइन कर लिया था। वह दुमका लोकसभा सीट से भाजपा की प्रत्याशी हैं।

भाजपा में आने के 59 दिन बाद JMM को आई ऐक्शन की याद, सीता सोरेन को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला  
Subodh Mishraपीटीआई,रांचीFri, 17 May 2024 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन को झारखंड मुक्ति मोर्चा ने पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। सीता सोरेन ने भाजपा ज्वाइन कर लिया था। वह दुमका लोकसभा सीट से भाजपा की प्रत्याशी हैं। झामुमो ने पार्टी के विधायक लॉबिन हेम्ब्रम को भी पार्टी से निकाल दिया है। हेम्ब्रम राजमहल सीट से पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार विजय हंसदक के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। दोनों नेताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

झामुमो सुप्रीमो और सीता सोरेन के ससुर शिबू सोरेन ने पार्टी की ओर से उनके निष्कासन का आदेश जारी करते हुए कहा कि आपको पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर आधारहीन आरोप लगाने और पार्टी के खिलाफ गतिविधि चलाने के लिए पार्टी से निकाला जा रहा है। आदेश में यह भी कहा गया है कि आप दुमका सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव भी लड़ रही हैं। इससे जाहिर होता है कि आपने यह सब चुनाव लड़ने के लिए किया है।

सीता सोरेन तीन बार विधायक रह चुकी हैं। उनका आरोप है कि उनके पति दुर्गा सोरेन के मरने के बाद पार्टी ने उन्हें हाशिए पर धकेल दिया। उन्होंने इसी साल 20 मार्च को दिल्ली में भाजपा ज्वाइन कर लिया था। भाजपा ने वर्तमान सांसद सुनील सोरेन का टिकट काटकर उन्हें दुमका लोकसभा सीट से पार्टी का प्रत्याशी बनाया है। सीता सोरेन ने कहा कि वह पहले ही पार्टी को अपना इस्तीफा सौंप चुकी हैं। इससे पहले उन्होंने हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन पर उन्हें अपमानित करने का भी आरोप लगाया था।

बता दें कि जमीन घोटाले में हेमंत सोरेन के जेल जाने के बाद जब उनकी पत्नी कल्पना सोरेन को मुख्यमंत्री बनाने की चर्चा जोरों पर थी तो सीता सोरेन ने इसका कड़ा विरोध जताया था। वहीं, पार्टी के एक अन्य नेता लॉबिन हेम्ब्रम को भी पार्टी से निकाल दिया गया है। हेम्ब्रम राजमहल सीट से पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार विजय हंसदक के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं।