ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में पांच डिग्री तक चढ़ेगा पारा, इस दिन तक प्रचंड गर्मी का अलर्ट; चलेंगी गर्म हवाएं

झारखंड में पांच डिग्री तक चढ़ेगा पारा, इस दिन तक प्रचंड गर्मी का अलर्ट; चलेंगी गर्म हवाएं

Jharkhand weather forecast: पलामू का अधिकतम तापमान मंगलवार को 44.0 डिग्री और गढ़वा का 43.4 डिग्री रहा। राज्य में दस जिलों का तापमान 40 डिग्री के पार रहा। रांची का अधिकतम 39.0 डिग्री रहा।

झारखंड में पांच डिग्री तक चढ़ेगा पारा, इस दिन तक प्रचंड गर्मी का अलर्ट; चलेंगी गर्म हवाएं
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 05 Jun 2024 10:22 AM
ऐप पर पढ़ें

Jharkhand weather: झारखंड में अगले पांच दिनों के दौरान गर्मी फिर से बढ़ने की संभावना व्यक्त की गई है। इस दौरान संताल परगना के दुमका, गोड्डा आदि जिलों को छोड़कर शेष झारखंड में अधिकतम तापमान में तीन से पांच डिग्री तक वृद्धि होने की संभावना है। इस दौरान रांची का तापमान भी दो से तीन डिग्री तक बढ़ सकता है। वहीं संताल के जिलों में गर्मी बढ़ने के साथ ही मौसम बदलाव और कहीं कहीं बारिश होने से राहत मिलने की संभावना व्यक्त की गई है।

चलेंगी गर्म हवाएं
राज्य के पलामू का अधिकतम तापमान मंगलवार को 44.0 डिग्री और गढ़वा का 43.4 डिग्री रहा। राज्य में दस जिलों का तापमान 40 डिग्री के पार रहा। रांची का अधिकतम 39.0 डिग्री रहा। मौसम विभाग के अनुसार राज्य में पश्चिम से गर्म हवा का प्रवाह होने से गर्मी में वृद्धि होगी।

प्रचंड गर्मी का येलो अलर्ट
मौसम विभाग रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद के अनुसार, झारखंड में पूर्वोत्तर के जिलों को छोड़कर शेष भागों में अगले चार दिनों के लिए गर्मी का यलो अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान गर्मी बढ़ने के साथ संताल के इलाकों में मौसम बदलाव होने से तापमान अपेक्षाकृत कम रहेगा।

एक दशक में रांची का औसत तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस बढ़ा
पर्यावरण को नजरअंदाज कर किए जा रहे विकास कार्यों का असर जलवायु पर साफ पड़ता दिखाई दे रहा है। पेड़-पौधों के कटने से पर्यावरण में तेजी से बदलाव हुआ है। जंगल-पहाड़ नष्ट किए जाने, तालाबों का अस्तित्व सिमटने और नदियों के दूषित होने से भी पर्यावरण को काफी नुकसान हुआ है। इसका असर सीधे तौर पर जलवायु पर पड़ा है। समर कैपिटल के रूप में प्रसिद्ध रांची का औसत तापमान पिछले एक दशक में औसत तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस बढ़ा है। वहीं, झारखंड में चार दशक के भीतर औसत तापमान में दो डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हुई है। यह आंकड़े मौसम विभाग के हैं।

रांची के वन क्षेत्र में सिमट रही हरियाली गैर सरकारी संगठन टोटल एनवायरनमेंट अवेयरनेस मूवमेंट की सर्वे रिपोर्ट के अनुसार रांची में पिछले तीन साल में सड़क निर्माण सहित विभिन्न सरकारी योजनाओं के नाम पर लगभग 80 हजार पेड़ काटे गए। सिर्फ स्मार्ट सिटी में एक हजार से ज्यादा पेड़ों की कटाई की गई। जबकि, पिछले 70 साल में शहरीकरण के नाम पर अंधाधुंध पेड़ों की कटाई हुई और अब राजधानी का वन क्षेत्र घटकर करीब 20 प्रतिशत रह गया है यानी 70 साल में रांची का वन क्षेत्र 32 प्रतिशत घटा है। जिससे गर्मी तेजी से बढ़ी है।

झारखंड में चार दशक में औसत तापमान दो डिग्री बढ़ा मौसम विभाग के अनुसार, झारखंड में 40 वर्षों के दौरान औसत तापमान में दो डिग्री की वृद्धि हुई है। इस दौरान झारखंड के कई जिलों में अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर गया। वहीं रांची में साल 2017 में अधिकतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था।