ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडदिल्ली में आलाकमान से मिले झारखंड के कांग्रेस विधायक, पार्टी ने दिया ये आश्वासन

दिल्ली में आलाकमान से मिले झारखंड के कांग्रेस विधायक, पार्टी ने दिया ये आश्वासन

राष्ट्रीय महासचिव वेणुगोपाल ने कांग्रेस के तीन विधायकों डॉ. इरफान अंसारी, उमाशंकर अकेला और अंबा प्रसाद से वन टू वन मुलाकात की। अन्य विधायकों से वह बुधवार को मिलेंगे और उसके बाद सभी रांची लौट आएंगे।

दिल्ली में आलाकमान से मिले झारखंड के कांग्रेस विधायक, पार्टी ने दिया ये आश्वासन
Abhishek Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 21 Feb 2024 08:26 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में जमे कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों से राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मांगलवार को मुलाकात की। वेणुगोपाल ने विधायकों से बारी-बारी बात कर उनकी भावनाएं जानीं।

उन्होंने विधायकों को आश्वासन भी दिया कि आलाकमान की नजर पूरे प्रकरण पर है। विधायकों से कहा अपनी मांग रखें, लेकिन पार्टी का सम्मान करें। राष्ट्रीय महासचिव वेणुगोपाल ने कांग्रेस के तीन विधायकों डॉ. इरफान अंसारी, उमाशंकर अकेला और अंबा प्रसाद से वन टू वन मुलाकात की। अन्य विधायकों से वह बुधवार को मिलेंगे और उसके बाद सभी रांची लौट आएंगे। इससे पहले विधायकों ने मध्यप्रदेश के नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार से मुलाकात की और अपनी बातें रखी।

विधायकों ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव को बताया कि जिन्हें दोबारा मंत्री बनाया गया है, उनसे आम जनता से लेकर कार्यकर्ता तक नाराज हैं। विधायकों की भी वे नहीं सुनते हैं। इससे क्षेत्र में कार्य करने में समस्या होती है। वह सत्ताधारी विधायक होकर भी अपने कोटे के मंत्रियों से काम नहीं करवा पा रहे हैं। इसकी शिकायत लगातार होती रही है। पूर्व कांग्रेस प्रभारियों ने मंत्रियों के कामकाज की रिपोर्ट ली थी। जिलों में जाकर कार्यकर्ताओं से भी बात की थी। उनकी शिकायतों के आधार पर रिपोर्ट दी थी, लेकिन इसके बाद भी उन्हें फिर से मंत्री बना दिया गया।

आलाकमान को सारी गतिविधियां बताईं

विधायक डॉ इरफान अंसारी ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल से मिलकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी और मंत्रियों के बारे में विस्तार पूर्वक वार्ता हुई। आधे घंटे तक बैठक चली। उन्होंने बताया कि केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि झारखंड की सारी गतिविधियों के बारे में उन्हें जानकारी है। पार्टी उचित निर्णय करेगी। उन्होंने स्पष्ट कहा कि विधायकों का भविष्य अच्छा है।

विधायक अपना काम अच्छे से करें। पार्टी का सम्मान करें। सरकार में समन्वय बनाकर चलें।

विधायकों की समस्याओं का होगा निदान

विधायकों की मानें तो 23 फरवरी से शुरू होने वाले झारखंड विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस के झारखंड प्रभारी गुलाम अहमद मीर भी रांची आएंगे। साथ ही, सरकार की को-ऑर्डिनेशन कमेटी के साथ बैठक कर विधायकों की समस्याओं का निदान कराएंगे। ज्ञात हो कि चंपाई सोरेन के मंत्रिमंडल विस्तार में कांग्रेस के पुराने मंत्रियों को ही फिर से मंत्री बनाने से नाराज आठ विधायक शनिवार रात दिल्ली चले गए।

समन्वय बैठक करने का आग्रह

विधायकों ने राष्ट्रीय महासचिव से आग्रह किया कि सरकार में समन्वय बैठक करने का भी निर्देश दिया जाए। समन्वय बैठक नहीं होने से जिलों में अधिकारी सिर्फ झामुमो के लोगों की ही सुनते हैं। कांग्रेस के विधायक से लेकर कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज किया जाता है। गठबंधन की सरकार में उनलोगों की भी सहभागिता है। सरकार की ओर से अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश दिया जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें