ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में बारिश से राहत और आफत, 30 मिनट में 10 फीडर ब्रेक डाउन; तीन घंटे गुल रही बिजली

झारखंड में बारिश से राहत और आफत, 30 मिनट में 10 फीडर ब्रेक डाउन; तीन घंटे गुल रही बिजली

झारखंड में बारिश ने जहां गर्मी से राहत दिलाई है वहीं लोगों की मुश्किलें भी बढ़ा दी हैं। कई जगहों पर बिजली के तारों पर पेड़ और डाल गिरने से शहर के 10 फीडरों से दो से तीन घंटे बिजली आपूर्ति बाधित हो गई।

झारखंड में बारिश से राहत और आफत, 30 मिनट में 10 फीडर ब्रेक डाउन; तीन घंटे गुल रही बिजली
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,रांचीFri, 21 Jun 2024 08:45 AM
ऐप पर पढ़ें

तेज हवाओं के साथ वज्रपात और मूसलाधार बारिश ने गुरुवार को शहर की बत्ती गुल कर दी। कई जगहों पर बिजली के तारों पर पेड़ और डाल गिरने से शहर के 10 फीडरों से दो से तीन घंटे बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। झिमझिम बारिश देर शाम तक होने से मरम्मत कार्य पूरी तरह प्रभावित रहा और राहत कार्य में विलंब हुआ। इससे लोगों को देर शाम तक बाधित बिजली से रूबरू होना पड़ा और बड़े इलाके में घंटों अंधेरा पसरा रहा। 

सर्किट हाउस व पहाड़ी फीडर, 33 केवी हटिया-राजभवन लाइन, राजभवन-कांके लाइन लाइटनिंग के कारण ट्रिप कर गई। इस कारण इन इलाकों में एक से दो घंटे आपूर्ति ठप रही। कडरू में पेड़ गिरने के कारण अशोक नगर फीडर से आपूर्ति ठप हो गई। अरगोड़ा में मेघगर्जन के साथ ट्रांसफार्मर का फ्यूज उड़ने से अतिरिक्त एक घंटे बिजली बंद रही। जबकि, अशोक नगर फीडर में शाम तक मरम्मत कार्य जारी रहा। 

डोरंडा में फ्यूज उड़ने से कई ट्रांसफार्मरों से बिजली आपूर्ति बाधित रही। करम टोली क्षेत्र में लाइन ब्रेक डाउन हो गया था। हरिओम टावर के समीप अशोक का पेड़ गिर जाने से बिजली की आपूर्ति ठप हो गई थी। यहां पेड़ की डाल बिजली तार पर गिर गई थी। जबकि, हरिओम टावर के समीप अशोक का पेड़ गिर जाने से बिजली की आपूर्ति ठप हो गई थी। जबकि, नामकुम जोरार बस्ती में ब्रेक डाउन होने से दो से तीन घंटे बड़े इलाके में बिजली आपूर्ति ठप रही।

अन्य प्रभावित इलाके

कडरू एजी कॉलोनी, डेली मार्केट, कडरू सरना टोली, चर्च रोड काली मंदिर रोड, न्यू पुदांग, सेल सिटी रोड, अरगोड़ा, नया टोली, फिरदौस नगर, हिंदपीढ़ी, छोटी मस्जिद, मणि टोला डोरंडा सहित अन्य इलाके प्रभावित रहे। भीषण गर्मी में रांची में 3.50 लाख शहरी और तीन लाख ग्रामीण उपभोक्ता लोकल फॉल्ट और ओवरलोड के कारण घंटों बिजली आपूर्ति बाधित रहने से त्रस्त थे। बिना बिजली लोगों का जीना मुश्किल हो गया था। अब बारिश के दस्तक से भी लोगों को बाधित बिजली से निजात आसानी से नहीं मिलने वाला है। क्योंकि, आने वाले दिनों में ब्रेक डाउन व लोकल फॉल्ट की समस्या बनी रहेगी।

ये शिकायतें अब बढ़ेंगी

मूसलाधार बारिश से ब्रेक डाउन की शिकायत ज्यादा बढ़ जाती है। साथ ही वज्रपात से भी इंसुलेटर पंचर होने, पेड़ की डाल बिजली तारों पर गिरने, मेघगर्जन से ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त होने का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए गर्मी की भांति ही बारिश के मौसम में तकनीकी खामियों के कारण लोगों को बिजली कटौती से परेशान होने के लिए तैयार रहना पड़ेगा।

रांची विद्युत एरिया बोर्ड के महाप्रबंधक पीके श्रीवास्तव ने कहा, 'हमलोगों की तैयारी शुरू हो चुकी है। शहरी क्षेत्रों में छह घंटे और ग्रामीण में 48 घंटे में ट्रांसफॉर्मर बदलने का निर्देश दिया गया है। ब्रेक डाउन को कम करने के लिए 11 केवी सहित अन्य लाइनों की पेट्रोलिंग करने को कहा गया है।'

Advertisement