DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडझारखंड: नियम तोड़कर कर रहे थे रावण दहन, पुलिस ने रोका तो डीएसपी को मारकर दिया घायल, फिर पुलिस ने की ये कार्रवाई

झारखंड: नियम तोड़कर कर रहे थे रावण दहन, पुलिस ने रोका तो डीएसपी को मारकर दिया घायल, फिर पुलिस ने की ये कार्रवाई

निज प्रतिनिधि,रामगढ़Sudhir Kumar
Sun, 17 Oct 2021 08:29 AM
झारखंड: नियम तोड़कर कर रहे थे रावण दहन, पुलिस ने रोका तो डीएसपी को मारकर दिया घायल, फिर पुलिस ने की ये कार्रवाई

रामगढ़ के रजरप्पा में रावण दहन के दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच खूनी भिड़ंत हो गयी। घटना में पुलिस पदाधिकारी समेत कई पुलिस वाले घायल हो गये। बड़कीपोना गांव के लोग आनेवाले मुसीबत से बेखबर अपने परिवार साथ रावण दहन कार्यक्रम को लेकर उत्साहित थे। शाम से पहले सैकड़ों लोग कार्यक्रम स्थल में पहुंच गए। इसकी जानकारी जब पुलिस को लगी तो पुलिस सरकार की गाइडलाइन का पालन करवाने कार्यक्रम स्थल पर की गई। पुलिस ने आयोजकों से कहा कि आप सरकार के निर्देश का पालन करें। कहीं भी रावण दहन नहीं हुआ तो आप भी मत करें। पुलिस ने रावण दहन का आयोजन रोक दिया।

शरारती तत्वों ने पुलिस पर चलाया पत्थर

मौके पर मौजूद कई ग्रामीण पुलिस के बातों से सहमत थे पर भीड़ में मौजूद कुछ शरारती लोगों को कुछ और भी मंजूर था। अचानक कुछ लोग पुलिस पर पथराव करने लगे। भीड़ में मौजूद कुछ ग्रामीणों ने उन्हें रोकने का भी प्रयास किया। पर शरारती तत्वों ने पुलिस पर पथराव जारी रखा। इस घटना में पत्थर लगने से  डीएसपी, थानेदार समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। डीएसपी संजीव मिश्रा, इंस्पेक्टर विपिन कुमार, नरेंद्र कुमार, देवनारायण ठाकुर सहित 5 लोग घायल हुए हैं। जिनका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। इसके बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई  की। पुलिस की कार्रवाई में में  कई ग्रामीणों को चोट लगी है।

एसपी ने संभाला मोर्चा

घटना की जानकारी पर एसपी प्रभात कुमार पहुंचे और पथराव में शामिल आरोपियों की धर पकड़ को लेकर सर्च अभियान चलाया। बताते चलें कि शनिवार को बड़कीपोना में ग्रामीण रावण दहन कर रहे थे। सूचना पर थाना प्रभारी पहुंचे और रावण दहन रोकने का निर्देश दिया। लेकिन ग्रामीणों ने कार्यक्रम रोकने से मना कर दिया। इसी बीच कुछ शरारती तत्वों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। जिससे थानेदार समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके बाद पुलिस ने जवाबी करवाई की। जिससे ग्रामीण भी घायल हो गए। घटना की सूचना मिलने के बाद रामगढ एसपी पहुंच गए और आरोपियो की धर पकड़ के लिए सर्च अभियान जारी है।

 दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा : एसपी 

एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि नियम विरुद्ध रावण दहन रोकने पर उपद्रवियों ने पत्थरबाजी की है, जिसमें पुलिस पदाधिकारी और जवान घायल हुए हैं। घटनास्थल में मौजूद दस लोगों को हिरासत में लिया गया है। और अन्य लोगों को भी पकड़ने के लिए अभियान अभी भी जारी रहेगा। घटना को जिन लोगों ने अंजाम दिया है, उनको किसी भी हाल में बक्सा नहीं जाएगा।

पुलिस छावनी में तब्दील हो गया बड़कीपोना गांव

घटना के बाद पुरा बड़कीपोना गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। हर तऱफ पुलिस के अधिकारी व जवान दिख रहे थे। गाँव के अधिकतर घरों में लोग घर के अंदर कैद हो गए थे। गांव में पुलिस को तैनात रखा गया है। गांव में भय और तनाव का माहौल बरकरार है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें