ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडखनन घोटाले में फिर कसेगा ED का शिकंजा, किस पर आएगी आंच? इस वजह से रुक गई थी जांच

खनन घोटाले में फिर कसेगा ED का शिकंजा, किस पर आएगी आंच? इस वजह से रुक गई थी जांच

ईडी इस केस में अब साहिबगंज के पूर्व डीसी रामनिवास यादव और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के तत्कालीन प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद पिंटू को नए सिरे से पूछताछ के लिए समन करेगी।

खनन घोटाले में फिर कसेगा ED का शिकंजा, किस पर आएगी आंच? इस वजह से रुक गई थी जांच
Abhishek Mishraअखिलेश सिंह,रांचीSun, 25 Feb 2024 09:14 AM
ऐप पर पढ़ें

साहिबगंज के नींबू पहाड़ में अवैध खनन व गवाहों को प्रभावित करने से जुड़े मामले में सीबीआई जांच पर लगी रोक हटने का असर ईडी की जांच पर भी पड़ा है। हाईकोर्ट के द्वारा सीबीआई की जांच पर रोक के कारण ईडी भी अपने केस में संदिग्धों से पूछताछ नहीं कर पा रही थी। इस मामले में जांच पर से हाईकोर्ट की रोक हटने के बाद जांच एजेंसी ईडी अब नये सिरे से सक्रिय होगी।

ईडी इस केस में अब साहिबगंज के पूर्व डीसी रामनिवास यादव और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के तत्कालीन प्रेस सलाहकार अभिषेक प्रसाद पिंटू को नए सिरे से पूछताछ के लिए समन करेगी। सीबीआई के अनुसंधान पर जबतक हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी थी, तब तक ईडी ने इस केस में पूछताछ के लिए आरोपियों को समन नहीं किया था। लेकिन जांच पर लगी रोक हटाए जाने के बाद ईडी की बाध्यता खत्म हो गई है। दिसंबर 2023 में सीबीआई ने नींबू पहाड़ में अवैध खनन को लेकर विजय हांसदा के द्वारा दर्ज मामले में रेगुलर केस किया था। इसी रेगुलर केस के आधार पर ईडी ने अवैध खनन से जुड़ा नया ईसीआईआर दर्ज किया था। इसके आधार पर 3 जनवरी को अभिषेक प्रसाद पिंटू, रामनिवास यादव, आर्किटेक्ट विनोद सिंह व रोशन कुमार सिंह के यहां छापेमारी हुई थी।

ईडी ने अवैध खनन व गवाह प्रभावित करने से जुड़े केस में साहिबगंज के तत्कालीन डीसी रामनिवास यादव को समन किया था। उस समय उन्होंने कैबिनेट विभाग के द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए लिखा था कि समन को लेकर उन्होंने राज्य सरकार को जानकारी दी है। राज्य सरकार के आदेश के बाद वह ईडी के समन पर उपस्थित होंगे। वहीं अभिषेक प्रसाद पिंटू ने पहले समन के बाद पारिवारिक सदस्य की बीमारी का हवाला देते हुए 22 जनवरी के बाद पूछताछ का वक्त देने को कहा था। लेकिन इससे पहले 20 जनवरी को सीबीआई की जांच पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी। ऐसे में ईडी ने दोबारा पूछताछ के लिए समन नहीं किया जा सका था।

पिंटू और रामनिवास यादव के बारे में नए तथ्य मिले हैं

फरवरी महीने के पहले सप्ताह में ईडी ने अभिषेक प्रसाद पिंटू और डीसी रामनिवास यादव के मोबाइल को रिट्रिव कराने के लिए समन भेजा था। दोनों की मौजूदगी में उनके मोबाइल फोन और लैपटॉप के डाटा को रिट्रिव कराया गया था। रामनिवास यादव व पिंटू के बारे में एजेंसी को नई जानकारियां भी मिली हैं। ऐसे में अब नए तथ्यों के आधार पर भी दोनों से जांच एजेंसी को पूछताछ करनी है।

पूछताछ का वक्त देने को कहा था। लेकिन इससे पहले 20 जनवरी को सीबीआई की जांच पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी। ऐसे में प्रिडिकेट आफेंस के केस में लगी रोक के कारण ईडी की ओर से दोनों को दुबारा पूछताछ के लिए समन नहीं किया जा सका था। हालांकि फरवरी महीने के पहले सप्ताह में ईडी ने दोनों के मोबाइल को रिट्रिव कराने के लिए समन भेजा था। दोनों की मौजूदगी में उनके मोबाइल फोन व लैपटॉप के डाटा को रिट्रिव कराया गया था। रामनिवास यादव व अभिषेक प्रसाद पिंटू के बारे में एजेंसी को नई जानकारियां भी मिली है। ऐसे में अब नए तथ्यों के आधार पर भी दोनों से एजेंसी को पूछताछ करनी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें