ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड के वित्त मंत्री ने की पूर्व CM की तारीफ, निशिकांत दुबे ने कसा तंज, क्या बोले?

झारखंड के वित्त मंत्री ने की पूर्व CM की तारीफ, निशिकांत दुबे ने कसा तंज, क्या बोले?

झारखंड के वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वर उरांव के एक बयान को लेकर सूबे की सियासत गरमा गई है। भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने चुटकी लेते हुए कहा कि उरांव जी ने आज नैतिक साहस दिखाया है।

झारखंड के वित्त मंत्री ने की पूर्व CM की तारीफ, निशिकांत दुबे ने कसा तंज, क्या बोले?
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,रांचीSun, 28 Jan 2024 11:29 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वर उरांव के एक बयान को लेकर सूबे की सियासत गरमा गई है। उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की तारीफ करते हुए कहा कि उनके शासनकाल में ईमानदारी थी। कांग्रेस नेता रामेश्वर उरांव के इस बयान पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने चुटकी लेते हुए कहा कि झारखंड कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव जी ने आज नैतिक साहस दिखाया है। उन्होंने भाजपा सरकार एवं सूबे के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी जी को सबसे ईमानदार बताया है। 

निशिकांत दुबे ने आगे कहा- रामेश्वर जी यह डूबते जहाज कांग्रेस को छोड़ने का सही समय है। हेमंत सोरेन की भ्रष्टाचारी सरकार को गिराकर आम जनता को राहत दीजिए। बता दें कि रामेश्वर उरांव वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक श्याम किशोर चौबे की पुस्तक 'झारखंड एक बेचैन राज्य का सुख' के विमोचन कार्यक्रम में पहुंचे थे। रांची प्रेस क्लब में आयोजित पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पुस्तक में लेखक ने झारखंड के लिए अपनी बेचैनी को दर्शाया है। झारखंड के विकास के लिए इस तरह की बेचैनी राज्य के सभी लोगों में होना चाहिए। 

बाबूलाल मरांडी ने कहा- सभी लेखकों को राज्य के विकास के प्रति अपनी बेचैनी दर्शानी होगी तभी राज्य का विकास तेजी से हो सकेगा। झारखंड अलग होने के बाद राज्य की सत्ता में स्थानीय लोगों की भागीदारी हो रही है जो अच्छी बात है। किसी भी देश या राज्य का विकास अचानक नहीं हो जाता है उसमें समय लगता है। वहीं रामेश्वर उरांव ने कहा कि झारखंड के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल के शासनकाल में बेईमानी नहीं थी। आज समय बदल गया है। राज्य में वित्तीय प्रबंधन के अभाव के कारण राज्य का विकास सही तरीके से नहीं हो रहा है। अभी भी राज्य में 60 फीसदी लोग गरीब हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें