DA Image
28 मई, 2020|4:35|IST

अगली स्टोरी

झारखंड : एक तरफ पिता की शव यात्रा तो दूसरी ओर बेटी हुई विदा

1 / 2करंट से कौलेश्वर की मौत के बाद विलाप करती पत्नी, बेटी व अन्य महिलाएं।

2 / 2शादी के बाद बाइक से विदा करा ले जाता दूल्हा।

PreviousNext

कसमार थाना क्षेत्र के दुर्गापुर गांव में शुक्रवार को बिजली करंट से कौलेश्वर महतो (45 वर्ष) की मौत हो गई। कौलेश्वर की बेटी की शादी भी शुक्रवार को ही तय थी। पिता की मौत के शोक के बीच उसकी शादी करा दी गई। एक तरफ पिता की शव यात्रा निकल रही थी तो दूसरी ओर बेटी विदा होकर ससुराल निकल रही थी। यह दृश्य देखकर गांव में अजीब स्थिति उत्पन्न हो गई थी। मां तो बार बार बेहोश हो जा रही थी। 

दुर्गापुर के कारूजारा टोला निवासी कौलेश्वर महतो सुबह बकरी के लिए पत्ता तोड़ने घर से कुछ दूर गए थे। वह गढ़ नीम व उससे सटे पलाश के पेड़ पर चढ़े हुए थे। इसी दौरान वह पेड़ से सटे बिजली प्रवाहित 11 हजार वोल्ट की तार की चपेट में आ गए और घटनास्थल ओर ही उनकी मौत हो गई। 

ग्रामीण बोले-बिजली विभाग की है लापरवाही : हादसे की सूचना पाकर कसमार थाना प्रभारी राजेंद्र चौधरी घटनास्थल पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए तेनुघाट भेज दिया। घटना को लेकर बिजली विभाग के प्रति स्थानीय ग्रामीणों में रोष है। ग्रामीणों का आरोप है कि विभागीय लापरवाही के कारण यह घटना हुई है। गांवों के विद्युतीकरण के दौरान जगह-जगह पेड़ों के बीच से 11 हजार वोल्ट के विद्युत तार गुजार रहे हैं। इसी के कारण यह घटना हुई है। 

मंदिर में हुई शादी, बाइक पर विदा : इधर, कौलेश्वर की बेटी रीना कुमारी की शादी सिल्ली के डुमरटांड़ निवासी ज्योतिलाल महतो से हुई। शादी संपन्न होने के बाद उसे बाइक पर विदा करा कर उसका पति ले गया। गांव के शिव मंदिर में शादी सम्पन्न हुई। लॉकडाउन के कारण दूल्हा समेत कुछ लोग ही बाइक से शादी में आए थे।

जीएम से मुआवजा देने की अपील :  सूचना पाकर गोमिया विधायक डॉ. लंबोदर महतो मौके पर पहुंचे और घटना पर दुख जताया। उन्होंने शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया। मौके पर विधायक ने बिजली विभाग के जीएम से फोन से बात की एवं मृतक के परिजन को अविलंब सरकारी मुआवजा देने को कहा। विधायक ने जीएम से यह भी कहा कि क्षेत्र में सभी जगहों पर विद्युत लाइन की जांच कराकर तारों से सटे पेड़ों की डालियों को कटवाकर अलग कराया जाए, ताकि इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति न हो सके। इधर, घटना की जानकारी पाकर स्थानीय मुखिया पति रामकिशुन महतो, पंसस पति सनातन महतो, उपमुखिया भीम प्रसाद महतो, पूर्व मुखिया अमरलाल महतो, समाजसेवी दिलीप महतो, संदीप कुमार महतो, डॉ अखिलेश्वर महतो आदि भी पहुंचे। मुखिया पति महतो ने मृतक के परिजन को आर्थिक मदद की। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Jharkhand: Fathers dead body on one side and daughter departed on the other side