ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडमीटिंग में विधायकों ने जताया भरोसा, हर कंडीशन में हेमंत सोरेन को कमान; आज बनेगा आगे का प्लान

मीटिंग में विधायकों ने जताया भरोसा, हर कंडीशन में हेमंत सोरेन को कमान; आज बनेगा आगे का प्लान

सूत्रों के अनुसार बैठक शुरू होते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि जो गुजरा है और जो हो रहा है, वह सबके सामने है। हम षड्यंत्रों के खिलाफ लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे। सारे विधायकों ने कहा कि वे उनके साथ हैं।

मीटिंग में विधायकों ने जताया भरोसा, हर कंडीशन में हेमंत सोरेन को कमान; आज बनेगा आगे का प्लान
Abhishek Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 31 Jan 2024 07:52 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भविष्य में उत्पन्न होने वाली किसी भी परिस्थिति में फैसला लेने के लिए महागठबंधन विधायक दल की बैठक में अधिकृत कर दिया गया है। मुख्यमंत्री सोरेन के कांके रोड स्थित आवास पर मंगलवार को देर शाम महागठबंधन विधायक दल की बैठक हुई।

बैठक में कहा गया कि विपरीत परिस्थिति आने पर हेमंत सोरेन जो निर्णय लेंगे, वह गठबंधन के सभी घटक दलों को मंजूर होगा। चर्चा है कि विषम परिस्थिति बनी, तो सीएम की पत्नी कल्पना सोरेन, मंत्री जोबा मांझी, चंपई सोरेन, बसंत सोरेन, स्पीकर रबींद्र नाथ महतो पर विचार किया जाएगा।

दूसरी तरफ मुख्यमंत्री से बुधवार को ईडी की एक बजे पूछताछ होनी है। इसके मद्देनजर सीएम आवास पर 12 बजे से महागठबंधन के विधायक और मंत्री जुटेंगे। पूछताछ के दौरान वे सीएम आवास पर ही मौजूद रहेंगे।

सूत्रों के अनुसार बैठक शुरू होते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि जो गुजरा है और जो हो रहा है, वह सबके सामने है। हम षड्यंत्रों के खिलाफ लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे। सारे विधायकों ने कहा कि वे उनके साथ हैं। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने कहा कि ईडी की कार्रवाई के पीछे विरोधियों की साजिश है। ऐसे में भविष्य के बारे में स्पष्ट आकलन नहीं हो सकता।

हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारे पास बहुमत है। सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। बैठक में कांग्रेस के सभी विधायकों समेत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर मौजूद थे। लेकिन, झामुमो के चार विधायक सीता सोरेन, लोबिन हेम्ब्रम, चमरा लिंडा व रामदास सोरेन अनुपस्थित रहे। 

मुख्यमंत्री की पत्नी कल्पना सोरेन पहली बार सीएम आवास पर हुई राजनीतिक बैठक में शामिल हुईं। यह तस्वीर जारी होते ही सियासी पारा चढ़ गया। कहा गया कि ईडी की कार्रवाई की वजह से सीएम सोरेन के सामने यदि विषम परिस्थिति उत्पन्न होती है, तो कल्पना सोरेन को मुख्यमंत्री के पद की शपथ दिलाई जा सकती है। दूसरी तरफ झामुमो विधायक और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन ने मीडिया कर्मियों से बातचीत में इस पर एतराज जताते हुए कहा कि सीएम को अपनी भतीजी के बारे में भी सोचना चाहिए।

हालांकि झामुमो के एक वरिष्ठ विधायक ने कहा कि छल-कपट की तोड़ के लिए वैकल्पिक रणनीति बनाई गई है। कहा कि हेमंत सियासी चक्रव्यूह रचना को भेदना खूब जानते हैं।

गवर्नर ने सीएस-डीजीपी को बुलाकर कानून-व्यवस्था की जानकारी ली

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने मंगलवार को राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति की जानकारी लेने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को तलब किया। डीजीपी अजय कुमार सिंह ने कहा कि राजभवन में मुख्य सचिव एल खियांग्ते और अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि राज्यभर में अतिरिक्त सात हजार जवानों की तैनाती की गई है। सीएम हाउस, राजभवन व ईडी कार्यालय के पास निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है।


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें