ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडमहिला को सरकारी फाइलों में बताया मृत, 5 साल से जिंदा होने का सबूत लेकर घूम रहीं शांति देवी

महिला को सरकारी फाइलों में बताया मृत, 5 साल से जिंदा होने का सबूत लेकर घूम रहीं शांति देवी

नारायणपुर प्रखंड अन्तर्गत भैयाडीह गांव निवासी शांति देवी व उनके पति विजय पंडित 5 वर्षो से जिंदा होने का सबूत लेकर कार्यालयों का चक्कर काट रहे हैं। दुर्भाग्य की बात है कि कोई सुनवाई नहीं हो रही।

महिला को सरकारी फाइलों में बताया मृत, 5 साल से जिंदा होने का सबूत लेकर घूम रहीं शांति देवी
Suraj Thakurलाइव हिन्दुस्तान,जामताड़ाMon, 05 Dec 2022 01:20 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

नारायणपुर प्रखंड अन्तर्गत भैयाडीह गांव निवासी शांति देवी व उनके पति विजय पंडित 5 वर्षो से जिंदा होने का सबूत लेकर कार्यालयों का चक्कर काट रहे है। लेकिन न प्रखंड के अधिकारियों ने उक्त दंपत्ति पर नजरें इनायत की और न ही जिले के अधिकारी इनकी समस्याओं के समाधान पर ध्यान दे रहे है। दरअसल जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा 21 सितम्बर 2017 को लाभुक शान्ती देवी को मृत घोषित कर उनके राशन कार्ड संख्या-202003476863 को डिलेट कर दिया गया है।

कई वर्षों से शांति देवी को नहीं मिल रहा खाद्यान्न
इन्हें राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत खाद्यान्न मिलता था। परंतु कार्यालय द्वारा राशन कार्ड डिलीट कर दिए जाने के कारण इन्हें खाद्यान्न नहीं मिल रहा है। लिहाजा उक्त लाभुक राशन कार्ड में प्रविष्ट गलत जानकारी में सुधार के लिए अधिकारियों से गुहार लगा चुकी है। परंतु नतीजा सिफर निकला। वह अपने जीवित होने का प्रमाण देकर थक चुकी है और सिस्टम के आगे थक हारकर मेहनत मजदूरी में जुड़ गई है।

इधर जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रधान मांझी ने कहा कि यह मामला मेरे संज्ञान में नही आया है। उन्हें मदद कर राशन कार्ड को पुन चालू कराने का प्रयास किया जाएगा।

राशन कार्ड में पांच सदस्य का है नाम 
राशन कार्ड धारी शांति देवी के पति विजय पंडित ने कहा कि मुझे लगातार राशन मिल रहा था। लेकिन 5 वर्ष पूर्व 2017 में जब दोबारा जन वितरण प्रणाली के दुकान राशन लेने गया, तो राशन कार्ड डिलेट हो जाने की जानकारी मिली। इसके बाद जब उनके पुत्र ने ऑनलाइन राशन डिलेट होने के कारण जानना चाहा, तो जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा 21 सितंबर 2017 को राशन कार्ड धारी की मृत्यु हो जाने के कारण राशन कार्ड डिलेट होने का सूचना मिली।

मेहनत-मजदूरी कर परिवार का हो रहा भरण-पोषण 
शांति देवी ने बताया कि हम लोग अत्यंत गरीब परिवार से हैं। किसी प्रकार से दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से जांच कराकर उनका राशन कार्ड पुन सुचारु रुप से चालू करने की मांग की। प्रभाकर मिर्धा ने कहा कि अगर जिंदा महिला को मृत कर दिया है तो यह गलत है। महिला द्वारा अगर मुझे आवेदन दिया जाता है तो मैं तत्काल रूप से उनका राशन कार्ड पुन चालू कर दिया जाएगा।