ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडअमन सिंह हत्याकांड का असर, रांची के जेल में पाबंदी; मोबाइल, चाबी समेत इन चीजों पर रोक

अमन सिंह हत्याकांड का असर, रांची के जेल में पाबंदी; मोबाइल, चाबी समेत इन चीजों पर रोक

धनबाद जेल में अमन सिंह की हत्या के बाद रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा की सुरक्षा सख्त कर दी गई है। रांची जेल में तैनात कर्मियों को भी किसी तरह का सामान अंदर ले जाने पर रोक लगा दी गई है।

अमन सिंह हत्याकांड का असर, रांची के जेल में पाबंदी; मोबाइल, चाबी समेत इन चीजों पर रोक
Abhishek Mishraशाहीन अहमद,धनबादTue, 05 Dec 2023 09:50 AM
ऐप पर पढ़ें

धनबाद जेल में अपराधी अमन सिंह की हुई हत्या के बाद रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा की सुरक्षा सख्त कर दी गई है। रांची जेल में तैनात कर्मियों को भी किसी तरह का सामान अंदर ले जाने पर रोक लगा दी गई है। यहां तक कि ड्यूटी के दौरान कर्मचारियों को पास में मोबाइल तक रखने पर पाबंदी लगा दी गई है।

जेल प्रशासन ने कर्मियों को चेतावनी दी है कि अगर किसी कर्मचारी के पास ड्यूटी के दौरान मोबाइल पाया जाता है तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जेल प्रशासन के आदेश के बाद गेट में प्रवेश करने के दौरान हर कर्मचारी की तलाशी ली जा रही है। घर की चाभी से लेकर किसी तरह का सामान तलाशी के दौरान मिलता है तो उसे प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। सामान को गाड़ी या फिर अन्य जगह पर रखवाने के बाद ही कर्मियों को जेल के भीतर जाने की इजाजत दी जा रही है।

कैदी के सामान की गहन तलाशी

जेल में बंद कैदियों के सामान भी तीन स्थानों पर चेक किए जा रहे हैं। कंबल, चादर, थैला आदि की गहनता से तलाशी लेने के बाद कैदी को दिए जा रहे हैं। यह देखा जा रहा है कि थैला में कोई आपत्तिजनक सामान तो नहीं है। अगर कोई आपत्तिजनक सामान थैला में रखा गया है तो उसे तुरंत निकाल कर फेंक दिया जाता है। बता दें कि पहले जेल गेट में ही कैदियों के परिजनों द्वारा दिए गए थैला व अन्य सामानों की चेकिंग होती थी।

कुख्यात अपराधी समेत नक्सली हैं जेल में बंद

रांची जेल में कुख्यात अपराधी समेत कई नक्सली बंद हैं। इनमें कुख्यात अपराधी अमन श्रीवास्तव, विपिन शर्मा, पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप, माओवादी प्रशांत बोस, जयनाथ साहु आदि शामिल हैं।

हत्या करने की नीयत से पहुंचा था अपराधी सुधीर

पांडेय गिरोह के शूटर सुधीर प्रसाद उर्फ टप्पू को रांची के एक होटल से गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि उसने खुद को पुलिस से पकड़वा कर रांची जेल गया था। वहां पर जेल में बंद अमन श्रीवास्तव की हत्या करने की उसकी योजना थी। जेल प्रशासन को इसकी भनक लग गई। इसके बाद जेल प्रशासन ने उसे लातेहार जेल में ट्रांसफर कर दिया। फिलहाल वह लातेहार जेल में ही बंद है।

हर सेल में पुलिस के जवानों की तैनाती

जेल प्रशासन ने धनबाद में अमन सिंह की हत्या के बाद सुरक्षा बढ़ा दी है। हर सेल में पुलिस के जवानों की तैनाती कर दी गई है। जेल प्रशासन ने तैनात सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया है कि किसी भी कैदी की संदिग्ध गतिविधि होने पर तुरंत कार्रवाई करें।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें