ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडरैली, बैठक के लिए ना न्योता मिला ना किसी ने संपर्क किया, BJP को जयंत सिन्हा का जवाब

रैली, बैठक के लिए ना न्योता मिला ना किसी ने संपर्क किया, BJP को जयंत सिन्हा का जवाब

यहां तक कि झारखंड बीजेपी के किसी भी वरिष्ठ अधिकारी, या सांसद/विधायक ने मुझसे संपर्क नहीं किया। जबकि मैंने 2 मार्च को ही विदेश जाने की बात कही थी। मुझे पार्टी के किसी भी इवेंट का न्योता नहीं मिला।

रैली, बैठक के लिए ना न्योता मिला ना किसी ने संपर्क किया, BJP को जयंत सिन्हा का जवाब
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,रांचीThu, 23 May 2024 08:24 AM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा सांसद जयंत सिन्हा ने पार्टी से मिले कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है। झारखंड के हजारीबाग से सांसद जयंत सिन्हा को अभी कुछ ही दिनों पहले पार्टी ने नोटिस थमा कर पूछा था कि आखिर वो पार्टी के लिए चुनाव प्रचार में दिलचस्पी क्यों नहीं ले रहे हैं? अब इसपर जयंत सिन्हा ने अपनी बात रखी है और कहा है कि वो निजी कार्यों की वजह से विदेश में थे और उन्हें किसी भी पार्टी के कार्यक्रम, रैली या सगंठनात्मक बैठक में आने का आमंत्रण ही नहीं मिला है। कारण बताओ नोटिस का लिखित जवाब देते हुए जयंत सिन्हा ने कहा है कि उन्होंने पोस्टल बैलेट के जरिए अपना मतदान किया है क्योंकि वो अपने निजी कार्यों की वजह से विदेश में थे। 

जयंत सिन्हा ने आगे लिखा, 'अगर पार्टी यह चाहती है कि मैं चुनाव से जुड़ी गतिविधियों में हिस्सा लूं तो निश्चित तौर से आपको मुझसे संपर्क करना चाहिए था। यहां तक कि झारखंड बीजेपी के किसी भी वरिष्ठ अधिकारी, या सांसद/विधायक ने मुझसे संपर्क नहीं किया। मुझे पार्टी के किसी भी इवेंट, रैलियों या बैठकों का न्योता नहीं मिला है।'

जयंत सिन्हा ने झारखंड बीजेपी के महासचिव आदित्य साहू को अपना जवाब भेजते हुए लिखा, 'आपका खत पाकर मैं चकित हूं और पता चला है कि यह मीडिया में भी आ चुका है। सबसे पहले मैं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ 2 मार्च, 2024 को चर्चा की थी। इस चर्चा के दौरान मैंने उन्हें अपने फैसले से अवगत कराया था कि मैं फिलहाल चुनावी जिम्मेदारियां छोड़ रहा हूं और ग्लोबल क्लाइमेट चेंज के मुद्दे पर काम कर रहा हूं। इस फैसले को ट्वीट के जरिए भी बताया गया था ताकि निष्पक्षता बनी रहे। मैंने जेपी नड्डा से आग्रह किया था कि वो मुझे प्रत्यक्ष तौर पर चुनावी ड्यूटी से राहत दे दें ताकि मैं दूसरे मुद्दे पर फोकस कर सकूं। हालांकि, मैं पार्टी के साथ आर्थिक और गवर्नेंस के मुद्दे पर लगातार काम करूंगा।' 

प्रत्याशी मनीष जायसवाल को दी थी बधाई

जयंत सिन्हा ने आगे लिखा, 'जेपी नड्डा की तरफ से अनुमति मिलने के बाद मैंने सार्वजनिक तौर पर यह साफ कर दिया था कि मैं इस चुनाव में शामिल नहीं हो रहा हूं। मैं पार्टी को आर्थिक मोर्चे पर सपोर्ट कर खुश हूं। पार्टी ने इस बार लोकसभा चुनाव में हजारीबाग से मनीष जायसवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है। मेरे द्वारा उम्मीदवारी छोड़ने के बावजूद यहां के कई लोगों और पार्टी वर्करों ने मुझे दिल्ली जाने के लिए कहा और उम्मीदवारी नहीं छोड़ने के लिए भी कहा। यह एक मुश्किल समय था। लोग काफी भावुक थे लेकिन मैंने पॉलिटिकल डेकोरम को बनाए रखा। 8 मार्च, 2024 को मैंने मनीष जायसवाल को उम्मीदवार बनाए जाने पर उन्हें बधाई दी थी। 

फिर भी अगर पार्टी यह चाहती है कि मैं चुनावी गतिविधियों में हिस्सा लूं तो आपको निश्चित तौर से मुझसे संपर्क करना चाहिए था। हालांकि, पार्टी के किसी भी वरिष्ठ अधिकारी, सांसद या विधायक ने मुझसे संपर्क नहीं किया। मुझे किसी भी रैली या बैठक में आने का आमंत्रण नहीं मिला।'