ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडपेशी के लिए आए आरोपी की हत्या पर हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, कहा- अदालतों की सुरक्षा को क्या किया बताए सरकार; मांगा जवाब

पेशी के लिए आए आरोपी की हत्या पर हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, कहा- अदालतों की सुरक्षा को क्या किया बताए सरकार; मांगा जवाब

देवघर सिविल कोर्ट परिसर में पेशी के लिए आए एक आरोपी की गोली मारकर हत्या के मामले में हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। कोर्ट ने इस मामले में सरकार से जवाब मांगा है। आठ जुलाई को अगली सुनवाई होगी।

पेशी के लिए आए आरोपी की हत्या पर हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, कहा- अदालतों की सुरक्षा को क्या किया बताए सरकार; मांगा जवाब
Sneha Baluniसंवाददाता,रांचीThu, 23 Jun 2022 08:58 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

देवघर सिविल कोर्ट परिसर से सटे वकालतखाना के पास 18 जून को पेशी के लिए आए आरोपी की गोली मारकर हत्या की गई थी। इस मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। अदालत ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा है। अदालत ने सुनवाई के दौरान विधि-व्यवस्था को लेकर मौखिक और तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि झारखंड में क्या हो रहा है। हर दिन ऐसी घटनाएं मीडिया में आ रही हैं।

अदालत ने कहा कि कोर्ट परिसर में भी हत्या की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। अदालतों की सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार की ओर से क्या-क्या कदम उठाए गए हैं, इसकी जानकारी कोर्ट में प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। मामले में अगली सुनवाई आठ जुलाई को होगी। बुधवार को सुनवाई शुरू होते ही अदालत ने कहा कि पिछले दिनों जमशेदपुर में एक गवाह को घर में घुस कर गोली मार दी गई। अब देवघर अदालत में गोलीबारी हुई है।

पेशी के दौरान विचाराधीन बंदी को मारी थी गोली

सिविल कोर्ट देवघर में बीते 18 जून को कोर्ट में पेशी के लिए आया एक विचाराधीन बंदी की दिन-दहाड़े गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। मारा गया आरोपी अमित कुमार सिंह बिहार का रहने वाला था। उसे देवघर के एक व्यवसायी के अपहरण मामले में पेशी के लिए कोर्ट लाया गया था। आरोपी जब अपने अधिवक्ता से मिलने गया था, उसी समय अपराधियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

आरोपी पूजा सिंघल की पेशी, हिरासत अवधि बढ़ी

मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में जेल में बंद निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल और उनके पति अभिषेक झा के सीए सुमन कुमार को बुधवार को ईडी की विशेष अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेश किया गया। अदालत ने दोनों की हिरासत अवधि पांच जुलाई तक बढ़ा दी है। मामले में ईडी जल्द ही चार्जशीट दाखिल करेगी। पूजा सिंघल को ईडी की 14 दिनों की पुलिस रिमांड के बाद 25 मई को बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार भेजा गया था। सीए सुमन कुमार 20 मई से जेल में है। दोनों की पेशी एक साथ हुई। अगली पेशी पांच जुलाई को होगी।

epaper