ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडचंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट में हेमंत भी रहेंगे मौजूद, कोर्ट की मंजूरी, हैदराबाद में विधायकों पर पहरा

चंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट में हेमंत भी रहेंगे मौजूद, कोर्ट की मंजूरी, हैदराबाद में विधायकों पर पहरा

विशेष अदालत ने झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को 5 फरवरी को विश्वास मत के लिए विधानसभा के विशेष सत्र में भाग लेने की अनुमति प्रदान कर दी है। उधर हैदराबाद में गठबंधन विधायकों पर सख्त पहरा है।

चंपई सरकार के फ्लोर टेस्ट में हेमंत भी रहेंगे मौजूद, कोर्ट की मंजूरी, हैदराबाद में विधायकों पर पहरा
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,रांचीSat, 03 Feb 2024 04:44 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में चंपई सोरेन के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार 5 फरवरी (सोमवार) को विश्वास मत हासिल करने के लिए तैयार है। मुख्यमंत्री चंपई सोरेन की अध्यक्षता में झारखंड सरकार की पहली कैबिनेट बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया। इस बीच विशेष अदालत ने झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन को 5 फरवरी को विश्वास मत के लिए विधानसभा के विशेष सत्र में भाग लेने की अनुमति प्रदान कर दी है। 

बता दें कि ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बुधवार को हेमंत सोरेन को गिरफ्तार किया था। हेमंत सोरेन ने विशेष पीएमएलए (धन शोधन निवारण अधिनियम) अदालत के समक्ष एक याचिका दायर की थी जिसमें उन्होंने नई चंपई सोरेन सरकार के विश्वास मत में भाग लेने की अनुमति मांगी थी। पीएमएलए अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हेमंत सोरेन को शुक्रवार को पांच दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया था।

इस बीच, राज्य का सियासी नाटक हैदराबाद में केंद्रित हो गया है क्योंकि सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के नेतृत्व वाले गठबंधन के लगभग 40 विधायकों को वहां एक रिजॉर्ट में ले जाया गया है। सत्ता पक्ष को आशंका है कि विधायकों को खरीदने का प्रयास किया जा सकता है। 

वहीं न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि झारखंड के कांग्रेस विधायकों को हैदराबाद के एक रिसॉर्ट की पहली चार मंजिलों पर रखा गया है। रिजॉर्ट परिसर को अन्य मेहमानों के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। जिन मंजिलों पर विधायक रह रहे हैं, वहां पुलिस सुरक्षा के साथ केवल एक लिफ्ट के जरिए ही पहुंचा जा सकता है।

यह भी जानकारी है कि विधायकों के लिए प्रथम तल पर अलग से भोजन की व्यवस्था की गई है। कमरों की सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी एवं कई अन्य व्यवस्थाएं की गई हैं। बता दें कि राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने शुक्रवार को राजभवन में चंपई सोरेन के साथ-साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता आलमगीर आलम और राजद नेता सत्यानंद भोक्ता को झारखंड मंत्री पद की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण के तुरंत बाद सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायकों हैदराबाद ले जाया गया। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें