ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड के किसानों के लिए गुडन्यूज, तीन महीने में मिलेगा सुखाड़ राहत का पैसा; सदन में मंत्री का बयान

झारखंड के किसानों के लिए गुडन्यूज, तीन महीने में मिलेगा सुखाड़ राहत का पैसा; सदन में मंत्री का बयान

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के अंतर्गत आने वाले किसानों के लिए गुडन्यूज है। इन्हें तीन महीने में सुखाड़ राहत का पैसा दिया जाएगा। सदन में कृषि मंत्री बादल ने यह जानकादी सदन में दी।

झारखंड के किसानों के लिए गुडन्यूज, तीन महीने में मिलेगा सुखाड़ राहत का पैसा; सदन में मंत्री का बयान
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,रांचीFri, 01 Mar 2024 08:59 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत राज्य के किसानों को मिलने वाले राहत के पैसे का भुगतान तीन माह के भीतर कर दिया जाएगा। गुरुवार को विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा के सवाल के जवाब में कृषि मंत्री बादल ने यह जानकादी सदन में दी। विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने सुखाड़ पर सवाल पूछा था। इसमें विभाग ने जानकारी दी थी कि साल 2022 में 22 जिलों के 226 प्रखंडों में सुखाड़ घोषित किया गया था।

सुखाड़ ग्रसित सभी प्रखंडों में मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का क्रियान्वयन किया गया है। शेष 38 प्रखंडों में झारखंड राज्य फसल राहत योजना का क्रियान्वयन किया गया है। मंत्री बादल ने राज्य सरकार की तरफ से सदन में जवाब देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत 33 लाख 63 हजार 201 आवेदन प्राप्त हुए हैं। अबतक 13.66 लाख लोगों को 478 करोड़ 46 लाख राशि का भुगतान किया जा चुका है। कृषि मंत्री ने बताया कि 5.57 लाख किसानों का सत्यापन पूरा कर लिया गया है। वहीं 4.90 लाख किसानों का सत्यापन वेजफेड के माध्यम से किया जा रहा है। कृषि मंत्री ने कहा कि जिनका सत्यापन हो गया है, उन्हें तीन माह के भीतर भुगतान देंगे।

मंत्री बताएं किस वर्ष का पैसा दिया अमर बाउरी

मंत्री बादल के सवाल पर नेता प्रतिपक्ष अमर कुमार बाउरी ने कहा कि मंत्री सुखाड़ पर अपना जवाब पढ़ रहे हैं। लेकिन वह बताएंगे कि किस वर्ष का पैसा किसानों को दिया गया है, क्योंकि यहां से कोई डिमांड जेनरेट कर भेजा ही नहीं गया है। तब मंत्री बादल ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने 2018 में सुखाड़ का पैसा किसानों को नहीं दिया था, वह पैसा किसानों को इस सरकार ने दिया। लेकिन सरकार तीन माह के भीतर सत्यापित किसानों को भुगतान देगी।

पीत वस्त्र के साथ नोकझोंक भी जारी

कांग्रेस विधायक इरफान ने कहा कि पिछली सरकार ने नकली किसान बनाकर बीजेपी और आरएसएस के लोगों को इजराइल भेजा था। इसपर नेता प्रतिपक्ष अमर कुमार बाउरी ने कहा कि किसान खुश मोहम्मद का नंबर दे दिया जाएगा। वहां से उन्नत तकनीक सीखकर लौटे हैं और खेती कर रहे हैं। वे क्या आरएसएस और भाजपा के हैं, पता चल जाएगा। हम किसानों को कर्जदार नहीं बनाना चाह रहे थे। उन्होंने कहा की अंबेडकर के बारे में बोलना चालू करूंगा तो कांग्रेस पानी नहीं मांगेगी। इस पर इरफान ने कहा कि भाजपा के लोग राम के पुजारी नहीं बल्कि राम के व्यापारी हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें