DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › दरिदंगी: बेहोशी का इंजेक्शन देकर नाबालिग से तीन दिन तक गैंगरेप
झारखंड

दरिदंगी: बेहोशी का इंजेक्शन देकर नाबालिग से तीन दिन तक गैंगरेप

हिन्दुस्तान,पलामूPublished By: Abhishek Tiwari
Mon, 14 Dec 2020 06:22 AM
दरिदंगी: बेहोशी का इंजेक्शन देकर नाबालिग से तीन दिन तक गैंगरेप

झारखंड पलामू जिले के हुसैनाबाद में नौवीं की एक छात्रा के साथ दो युवकों ने तीन दिनों तक सामूहिक दुष्कर्म किया। बताया जाता है कि आरोपियों ने किशोरी को घर से बुलाकर अपने कब्जे में ले लिया। उसके बाद नगर पंचायत द्वारा निर्माणाधीन भवन में तीन दिनों तक बेहोशी की हालत में रखकर सामूहिक दुष्कर्म करते रहे। दुष्कर्मियों की चंगुल से भागकर शनिवार को किशोरी घर पहुंची और बेहोश हो गई।

परिजनों ने पीड़िता को हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल में तत्काल भर्ती कराया। यहां देर रात होश आने के बाद किशोरी ने सामूहिक दुष्कर्म की जानकारी दी। घटनास्थल हुसैनाबाद अनुमंडल कार्यालय के पास स्थित है। इसके आधे किलोमीटर के दायरे में ही एसडीएम और एसडीपीओ का सरकारी आवास भी स्थित है।

हुसैनाबाद थाना प्रभारी अजय कुमार ने किशोरी के फर्द बयान के आधार पर दोनों आरोपियों समीर खान और मोनू हुसैन के खिलाफ हुसैनाबाद थाने में केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। रविवार को न्यायिक हिरासत में पलामू सेंट्रल जेल भेज दिया गया है। वहीं पीड़िता का मेडिकल चेकअप मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कराया गया है।

पीड़िता के लापता होने की पुलिस को दी गई थी सूचना

पीड़िता के पिता ने हुसैनाबाद थाने को लिखित रूप से सूचित किया था कि दस दिसंबर को एक बर्थडे पार्टी में जाने की बात कहकर घर से निकली उनकी बेटी लापता है। दोपहर लगभग दो से तीन बजे के बीच उनकी बेटी घर से निकली थी। देर रात तक घर नहीं लौटने के बाद परिजनों ने उसकी काफी खोजबीन की परंतु कुछ पता नहीं चला। इसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई। पीड़िता के पिता के अनुसार 12 दिसंबर की सुबह उनकी बेटी दुष्कर्मी के चंगुल से किसी तरह भागकर बदहवास स्थित में घर पहुंची और बेहोश हो गई।

इसके बाद आनन-फानन में उसे इलाज के लिए हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल में पहुंचाया गया जहां देर रात होश आने पर उसने घटना की जानकारी परिजनों को दी। पीड़िता ने पुलिस को बताया की शहर के सैयद टोली निवासी समीर खान और लंबी गली निवासी मोनू हुसैन उसे बहला-फुसलाकर बाइक पर बैठाकर अनुमंडल कार्यालय के पास कर्पूरी मैदान के एक छोर पर बन रहे सरकारी भवन में ले गए। वहां एक इंजेक्शन लगाया और फिर बार-बार इंजेक्शन देकर दुष्कर्म करते रहे।

संबंधित खबरें