ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड के गढ़वा में चार साल के बच्चे की हत्या, आरोपी पति-पत्नी गिरफ्तार

झारखंड के गढ़वा में चार साल के बच्चे की हत्या, आरोपी पति-पत्नी गिरफ्तार

एसपी ने बताया कि एक हफ्ता पहले गिरफ्तार आरोपी के भाई लव साव के घर से ढाई लाख रुपये की चोरी हुई थी। उनमें से 50 हजार रुपये उसके नाबालिग भतीजी के पास से ही बरामद किया गया था।

झारखंड के गढ़वा में चार साल के बच्चे की हत्या, आरोपी पति-पत्नी गिरफ्तार
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,गढ़वा रंकाThu, 08 Feb 2024 09:22 PM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड के गढ़वा जिलांतर्गत रंका थाना के सोनदाग गांव में चार साल के बच्चे की हत्या करने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। बच्चे की हत्या के मामले में आरोपी पति-पत्नी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं उसकी नाबालिग बेटी को भी बाल सुधार गृह भेजा गया। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में आरोपियों ने बच्चे की हत्या में संलिप्तता स्वीकार कर ली है। गुरुवार को प्रेसवार्ता कर एसपी दीपक कुमार पांडेय ने यह जानकारी दी।

एसपी ने बताया कि एक हफ्ता पहले गिरफ्तार आरोपी के भाई लव साव के घर से ढाई लाख रुपये की चोरी हुई थी। उनमें से 50 हजार रुपये उसके नाबालिग भतीजी के पास से ही बरामद किया गया था। उसने बताया कि उसने धीरज की पत्नी रानी के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम दिया था। जब रानी से उक्त लोगों ने रुपये चोरी की बाबत पूछताछ की तो उसने घटना में संलिप्तता से इनकार कर दिया। उससे आरोपी पक्ष के लोग आक्रोशित हो गए। सबक सिखाने के लिए रानी के चार साल के बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या कर कुएं में डाल दिया।

मामले में 7 फरवरी सोनदाग गांव निवासी धीरज भुइयां की पत्नी रानी देवी ने थाना में अपने चार वर्षीय पुत्र विष्णु कुमार के अपहरण की शिकायत दर्ज कराई थी। गांव निवासी लव साव, सिकेंद्र साव और लव साव की पत्नी बरती देवी पर बेटे के अपहरण का आरोप लगाया था। आवेदन के आलोक में पुलिस ने केस दर्ज किया। उसके बाद एसपी के निर्देश पर एसडीपीओ रोहित रंजन सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी सिकेंद्र को गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ की गई तो उसने बच्चे की हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली।

उसी की निशानदेही पर बच्चे का शव गांव निवासी महावीर ठाकुर के कुआं से बरामद किया गया। उसके बाद हत्याकांड में संलिप्तता के मामले में आरोपी सकेंद्र के अलावा उसकी पत्नी बिमा कुमारी को गिरफ्तार किया गया। साथ ही उनकी नाबालिग बेटी को कब्जे में लिया गया। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए गठित छापेमारी टीम में एसडीपीओ रोहित के अलावा पुलिस उपाधीक्षक रामजी महतो, थाना प्रभारी शंकर प्रसाद कुशवाहा सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी और सशस्त्र बल के जवान शामिल थे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें