DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उम्मीदवारों की हर गतिविधि पर तीसरी आंख से नजर रख रहा चुनाव आयोग

election commission

लोकसभा चुनाव के उम्मीदवारों की हर गतिविधियों पर चुनाव आयोग तीसरी आंख से नजर रख रहा है। चुनाव प्रचार से लेकर मतदान तक सभी उम्मीदवारों पर नजर रखी जाएगी। चुनाव आयोग के निर्देश पर सभी जिलों में उम्मीदवारों की वीडियो फिल्म बनायी जा रही है। आपराधिक रिकॉर्ड वाले मतदाताओं पर विशेष नजर रखी जा रही है। 

जिन उम्मीदवारों पर आपराधिक मामला नहीं है, उनकी सार्वजनिक सभाओं की वीडियोग्राफी की जा रही है। वहीं आपराधिक रिकॉर्ड वाले उम्मीदवारों के पूरे दिन की गतिविधियों की फिल्म बनायी जा रही है। ऐसे उम्मदीवार जहां भी जाएंगे, जिला प्रशासन की ओर से नियुक्त किए गए कैमरामैन उनके साथ होंगे। सार्वजनिक सभा हो या बैठक हर जगह उम्मीदवारों की गतिविधि कैमरे में कैद किए जाएंगे।

पटना के विशेष कोर्ट में राहुल पर चलेगा मानहानि का मुकदमा, समन जारी

बाहर से वीडियोग्राफर बुलाए गए
आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों पर निगाह रखने के लिए संबंधित विधानसभा क्षेत्र के बाहर से वीडियोग्राफर बुलाए गए हैं। चुनाव के दौरान उम्मीदवारों द्वारा की जानेवाली राशि पर लगाम लगाने के लिए चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों की वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए कड़े निर्देश दिए हैं। आयोग ने कहा है कि किसी प्रकार की गड़बड़ी पाए जाने पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी। वीडियो फिल्म बनाए जाने के दौरान किसी उम्मीदवार ने विरोध किया तो उसकी जानकारी भी आयोग को अविलंब देने का निर्देश दिया गया है।

सभा, रैली और लाउडस्पीकरों की संख्या बतानी होगी
लोकसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को रैली, सभा और नुक्कड़ सभा के आयोजन के पूर्व अनुमति जिला निर्वाचन कार्यालय से लेना होगा।  सभा की अनुमति लेने के लिए उम्मीदवारों को जारी फॉर्म को पूरी तरह भरना होगा। इसमें उम्मीदवार का नाम, दल  का नाम लिखना होगा। यह बताना होगा कि किस दिन वह सभा करना चाहते हैं और किस स्थान पर। सभा में शामिल होनेवाले समर्थकों या लोगों की अनुमानित संख्या का जिक्र भी करना होगा। सभा या बैठक में इस्तेमाल किए जानेवाले लाउडस्पीकरों की संख्या का जिक्र भी करना होगा।

जो जनता के बीच नहीं जाता उसे पीएम रहने का हक नहीं: प्रियंका गांधी

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Election Commission of the third eye on every activity of candidates in lok sabha election