DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › शिक्षा मंत्री जी, फीस नहीं लेंगे तो छोटे स्कूल हो जाएंगे बंद 
झारखंड

शिक्षा मंत्री जी, फीस नहीं लेंगे तो छोटे स्कूल हो जाएंगे बंद 

धनबाद प्रमुख संवाददाताPublished By: Rupesh
Thu, 28 May 2020 05:13 PM
शिक्षा मंत्री जी, फीस नहीं लेंगे तो छोटे स्कूल हो जाएंगे बंद 

शिक्षा मंत्री जी! सक्षम परिवार के बच्चे निजी स्कूल में पढ़ते हैं। वे फीस देने में सक्षम हैं। सरकार उन्हें वेतन भी दे रही है। वर्तमान में वे भी कह रहे हैं कि हमलोग फीस नहीं दे पाएंगे। 

उक्त बातें रांची में बुधवार को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के समक्ष धनबाद के सीबीएसई स्कूलों के प्रतिनिधि के रूप में बड्स गार्डेन स्कूल राजगंज के प्राचार्य प्रमोद कुमार ने कहीं। धनबाद से प्रमोद कुमार के अलावा संत थॉमस स्कूल तोपचांची के प्राचार्य संदीप कुमार डे भी उपस्थित थे। सहोदया धनबाद चैप्टर की ओर से दोनों प्राचार्य को प्रतिनिधि बनाकर भेजा गया। शिक्षा मंत्री व शिक्षा विभाग के अधिकारियों के समक्ष प्राचार्य प्रमोद कुमार ने कहा कि बीपीएल बच्चों को पढ़ाते हैं। सक्षम लोगों से फीस लेकर ही बीपीएल बच्चों को पढ़ाते हैं। हमारे पास कोई फंड नहीं है। आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई है। फीस नहीं लेंगे, तो छोटे-छोटे स्कूल बंद हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षक दिन-रात मेहनत कर रहे हैं। रात में वीडियो तैयार करने के बाद दूसरे दिन बच्चों को पढ़ाते हैं। ऑफलाइन पढ़ाने की तुलना में ऑनलाइन में ज्यादा समय समेत अन्य संसाधन खर्च होते हैं। शिक्षक भी गरीब परिवार से आते हैं। वेतन नहीं दे पाएं, तो शिक्षकों के सामने भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो जाएगी। स्कूल फीस नहीं लेंगे, तो बिजली बिल, टेलीफोन बिल, भवन-जमीन कर, स्कूल गाड़ियों का इंश्योरेंस, सड़क कर, परमिट या बैंक लोन भी माफ नहीं किया गया है और न ही छूट दी गई है। ऐसे में धनबाद के स्कूलों ने यह निर्णय लिया है कि अभिभावकों पर फीस के लिए दबाव नहीं बनाएंगे। फीस जमा करने के लिए पर्याप्त समय देंगे। निजी स्कूल 11 महीने का ही किराया लेंगे। ऑनलाइन क्लास लेना जारी रखेंगे। मंत्री ने प्राचार्यों से कहा कि जल्द ही राज्य के पांच प्राचार्यों व अभिभावकों की बैठक मुख्य सचिव के साथ कराई जाएगी।  

संबंधित खबरें