ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडED ने सीएम हेमंत को किस आधार पर किया समन, 9 महीने में दूसरी बार होगी पूछताछ

ED ने सीएम हेमंत को किस आधार पर किया समन, 9 महीने में दूसरी बार होगी पूछताछ

ईडी ने जमीन मालिकों और सरकारी पदाधिकारियों का बयान अलग-अलग तारीखों में दर्ज किया था। ईडी ने जांच में आए तथ्यों के आधार पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को समन किया है। 9 महीने में दूसरी बार पूछताछ होगी।

ED ने सीएम हेमंत को किस आधार पर किया समन, 9 महीने में दूसरी बार होगी पूछताछ
Suraj Thakurमुख्य संवाददाता,रांचीWed, 09 Aug 2023 07:59 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जमीन घोटाले में ईडी ने समन किया है। उन्हें 14 अगस्त को प्रवर्तन निदेशालय के रांची जोनल कार्यालय बुलाया गया है। हेमंत सोरेन को यह समन ईडी से जुड़े जमीन घोटाले के ईसीआईआर संख्या 25/23 में किया गया है। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने रांची में जमीन घोटाले से जुड़े मामले में 9 फरवरी और 15 फरवरी को बड़गाई अंचल का सर्वे किया था। इसके अलावा कोलकाता के रजिस्ट्रार आफ एश्योरेंस कार्यालय का भी सर्वे किया गया था। इसके बाद ईडी ने 13 अप्रैल व 24 अप्रैल को जमीन घोटाले में छापेमारी की थी।

जांच में आए तथ्यों के आधार पर समन
जमीन घोटाले में सीएमओ में कार्यरत उदय शंकर के यहां छापेमारी के दौरान कई सारे दस्तावेज ईडी को मिले थे। उस छापे के बाद ईडी ने जमीन मालिकों और सरकारी पदाधिकारियों का बयान अलग-अलग तारीखों में दर्ज किया था। ईडी ने जांच में आए तथ्यों के आधार पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को समन किया है।

सोरेन परिवार के नाम जमीन की जांच
मुख्यमंत्री व परिवार के नाम पर आदिवासी जमीन की जांच कर रही ईडी ईडी के द्वारा रांची समेत अन्य जिलों में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व उनके परिवार के नाम पर ली गई जमीनों की जांच की जा रही है। रांची में ईडी ने जांच में ऐसी कई आदिवासी प्रकृति की जमीनों को चिन्हित किया है, जिस पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व उनके परिवार का कब्जा रहा है। ईडी ने इस मामले में ईसीआईआर 25/23 दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने ऐसी कई जमीनों की जानकारी जुटायी है, जिसका विवरण चुनावी हलफनामे में नहीं है। जबकि पूछताछ में जमीन के सोरेन परिवार के कब्जे में होने की बात सामने आयी है।

अवैध खनन केस में ईडी कर चुकी पूछताछ
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से ईडी ने पहली बार साहिबगंज में 1000 करोड़ के अवैध खनन व उससे जुड़े मनी लाउंड्रिंग केस में पूछताछ की थी। मुख्यमंत्री पहली बार 17 नवंबर 2022 को ईडी के समक्ष उपस्थित हुए थे, तब उनसे 10 घंटे के करीब पूछताछ की गई थी। अवैध खनन केस के बाद सीएम को जमीन घोटाले में दूसरी बार समन हुआ है। जमीन घोटाले में ईडी मुख्यमंत्री व उनके पारिवारिक सदस्यों के नाम अर्जित संपत्ति की भी जांच कर रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें