ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक पहुंची ईडी जांच की आंच, रडार पर आए ये आईएएस और आईपीएस

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक पहुंची ईडी जांच की आंच, रडार पर आए ये आईएएस और आईपीएस

प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर अपनी जांच का दायरा बढ़ा लिया है। एजेंसी ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, उनके पीए पवन कुमार सहित आईएएस और आईपीएस के संबंध में जानकारी मांगी है।

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तक पहुंची ईडी जांच की आंच, रडार पर आए ये आईएएस और आईपीएस
Sneha Baluniअखिलेश सिंह,रांचीThu, 13 Oct 2022 05:52 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने झारखंड में मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर अपनी जांच का दायरा बढ़ा दिया है। कोलकाता के कारोबारी अमित अग्रवाल से पूछताछ के बीच अब ईडी ने सूबे के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो तथा उनके पीए पवन कुमार, पूर्व आईएएस केके खंडेलवाल, दिलीप झा, गिरिडीह एसपी अमित रेणू और गिरिडीह एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह समेत कुछ कारोबारियों की जानकारी राज्य पुलिस मुख्यालय से मांगी है। ईडी की ओर से जानकारी मांगे जाने के बाद आईजी मानवाधिकार ने सीआईडी से संबंधित लोगों पर दर्ज केस, आरोप पत्र व शिकायत का ब्योरा मांगा है। पुलिस मुख्यालय से रिपोर्ट भेजे जाने के बाद ईडी आगे की कार्रवाई करेगी। 

जेएमएम के दूसरे विधायक भी रडार पर 

ईडी के डिप्टी डायरेक्टर विनोद कुमार ने राज्य पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर जानकारी मांगी है कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, उनके पीए पवन कुमार से जुड़े मामले की जानकारी उपलब्ध करायी जाए। ईडी को शिकायत मिली है कि पद पर रहते हुए इसका दुरूपयोग कर शिक्षा मंत्री व उनके पीए ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है। इनकी मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्तता है। 

शिकायत मिलने के बाद इस संबंध में पीएमएलए की धाराओं के तहत राज्य पुलिस मुख्यालय से जानकारी मांगी गई है। वहीं ईडी के रडार पर झामुमो के दूसरे विधायक सुदिव्य कुमार सोनू भी हैं। ईडी को शिकायत मिली है कि गिरिडीह के एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह धनशोधन की गतिविधियों में सुदिव्य के साथ लिप्त हैं। उन्होंने पद का दुरूपयोग करते हुए कई जगह पर संपत्ति खरीदी है। वे शेल कंपनियां बना मनी लॉन्ड्रिंग में संलिप्त रहे हैं।

कोयला तस्करी पर शिकंजे की तैयारी 

ईडी धनबाद समेत कई अन्य जिलों में कोयले की तस्करी को लेकर भी कार्रवाई की तैयारी में हैं। कोयला क्षेत्र में धनबाद के एसएसपी संजीव कुमार और गिरिडीह में अमित रेणू के खिलाफ ईडी को शिकायत मिली थी। ईडी की शिकायत में धनबाद एसएसपी पर आरोप लगाया गया है कि जिले के मुगमा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कोयला तस्करी हो रही है। धनबाद में कोयला चाल धंसने से मौत की वजह तस्करी बतायी गई है। साथ ही फरवरी माह में हुए वारदातों को उदाहरण के तौर पर बताया गया है। 

गिरिडीह के एसपी अमित रेणू पर भी पद का दुरूपयोग करते हुए अपने व अपने परिजनों के नाम पर संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए पीएलएमए के तहत जांच की मांग की गई है। बीसीसीएल के सीनियर मैनेजर बीएन बेहरा, चीफ विजिलेंस अफसर अनिमेष कुमार से जुड़े मामले में भी ईडी ने जानकारी मांगी है। दुमका के हरिनंदन चौधरी, बालू के कारोबार से जुड़े मनीष यादव से जुड़े केस या आरोप पत्र की जानकारी भी इडी ने मांगी है।

केके खंडेलवाल, दिलीप झा और गिरिडीह एसपी के बारे में भी रिपोर्ट तलब

ईडी ने शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, उनके पीए पवन कुमार के अलावा झारखंड के पूर्व अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल, पाकुड़ के पूर्व डीसी दिलीप झा, गिरिडीह के एसपी अमित रेणू, एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह के अलावा राज्य के कई अन्य अधिकारियों और कारोबारियों के बारे में भी पुलिस मुख्यालय से जानकारी मांगी है।

साहिबगंज डीएमओ विभूति कुमार फिर चर्चा में

साहिबगंज में अवैध खनन को लेकर ईडी ने वहां के डीएमओ विभूति कुमार को लेकर रिपोर्ट मांगी है। विभूति के बारे में बताया गया है कि वह अवैध खनन के बाद स्टोन चिप्स के परिवहन में संलिप्त रहे हैं। वहीं कई क्रशर लीज में अनियमितता कर भी विभूति ने करोड़ों की कमायी की। इसके बाद अपने व अपने परिवार के नाम पर कई जगहों पर संपत्ति अर्जित की। वहीं साहिबगंज में ही शिवशक्ति स्टोन वर्क्स में काम के दौरान एक मजदूर करुणा शाह की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस से पूरी कार्रवाई रिपोर्ट, जांच से जुड़े कागजातों की मांग की गई है। आठ मई 2020 को करूणा शाह की मौत शिवशक्ति स्टोन वर्क्स में हुई थी।