ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडईडी ने IAS मनीष रंजन को आलमगीर आलम के सामने बैठाया, कमीशनखोरी मामले में क्या-क्या सवाल

ईडी ने IAS मनीष रंजन को आलमगीर आलम के सामने बैठाया, कमीशनखोरी मामले में क्या-क्या सवाल

ईडी ने मनीष रंजन से उनके पारिवारिक सदस्यों, आश्रितों के बैंक खातों, चल-अचल संपत्ति की पूरी जानकारी मांगी। साथ ही सभी दस्तावेज सोमवार तक शपथ पत्र के जरिए ईडी के जांच अधिकारी को सौंपने को कहा।

ईडी ने IAS मनीष रंजन को आलमगीर आलम के सामने बैठाया, कमीशनखोरी मामले में क्या-क्या सवाल
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीWed, 29 May 2024 06:27 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड में ठेकों में कमीशनखोरी मामले में ग्रामीण विकास विभाग के पूर्व सचिव मनीष रंजन से मंगलवार को ईडी ने करीब 9.30 घंटे तक पूछताछ की। मनीष से उनके आईएएस बनने के बाद उनकी पोस्टिंग कहां-कहां, किस पद पर रही, इस दौरान उन्हें वेतन कितना मिलता था, चल-अचल संपत्तियों में कितना निवेश किए आदि सवाल किए गए। मनीष सुबह 11 बजे ईडी ऑफिस पहुंचे, जहां नौ बजे तक पूछताछ हुई।

साढ़े नौ घंटे चली पूछताछ
ईडी ने मनीष रंजन से उनके पारिवारिक सदस्यों, आश्रितों के बैंक खातों, चल-अचल संपत्ति की पूरी जानकारी मांगी। साथ ही सभी दस्तावेज सोमवार तक शपथ पत्र के जरिए ईडी के जांच अधिकारी को सौंपने को कहा। इधर, मनीष रंजन ने ईडी के कहे अनुसार आधार कार्ड समेत अन्य सरकारी दस्तावेज पहले ही दिन उपलब्ध करा दिए। एजेंसी अब इन दस्तावेजों की जांच करेगी। वहीं केंद्रीय कार्मिक विभाग को दिए अचल संपत्ति के विवरण से भी मनीष की ओर से दी गई जानकारी का मिलान करेगी।

मंत्री के सामने बैठाकर कमीशनखोरी पर पूछे सवाल
ईडी ने शुरुआत में करीब छह घंटे तक मनीष रंजन से अकेले में पूछताछ की। इसके बाद विभागीय मंत्री आलमगीर आलम के सामने बैठाकर सवाल-जवाब किए। इससे पहले मनीष रंजन से ग्रामीण विकास विभाग में उनके करीब डेढ़ साल के कार्यकाल पर प्रश्न पूछे। ठेके में कमीशन की राशि के बंटवारे से जुड़े सवाल किए। विभाग में किस तरीके से कमीशनखोरी का सिस्टम काम करता था, वह कैसे और कितनी बार लाभान्वित हुए, इससे जुड़े सवाल पूछे गए।

आज भी पूछताछ संभव
मनीष रंजन से आगे भी एजेंसी के अधिकारी पूछताछ करेंगे। जानकारी के मुताबिक, ईडी ने पूछताछ के दौरान उनसे कई जानकारी मांगी है। उन जानकारी के साथ उन्हें फिर से उपस्थित होने को कहा गया है। ईडी बुधवार को भी मनीष रंजन से पूछताछ कर सकती है।           

यह भी जानिए: हेमंत की जमानत अर्जी पर कोर्ट ने ईडी से मांगा जवाब
कथित जमीन घोटाला से जुड़े मामले में जेल में बंद पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की ओर से झारखंड हाईकोर्ट में दाखिल जमानत अर्जी पर मंगलवार को आंशिक सुनवाई हुई। जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत ने सुनवाई के दौरान ईडी को इस मामले में शपथ पत्र के माध्यम से 10 जून से पहले जवाब दाखिल करने का आदेश दिया। कोर्ट ने मामले की विस्तृत सुनवाई की तारीख 10 जून निर्धारित की। ग्रीष्मावकाश के बाद हाईकोर्ट 10 जून को खुल रहा है।