ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडईडी ने आलमगीर आलम से 9 घंटे से अधिक समय तक की पूछताछ, क्या बोले झारखंड के मंत्री- VIDEO

ईडी ने आलमगीर आलम से 9 घंटे से अधिक समय तक की पूछताछ, क्या बोले झारखंड के मंत्री- VIDEO

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में झारखंड के मंत्री आलमगीर आलम से मंगलवार को नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। ईडी कार्यालय से बाहर आने के बाद संवाददाताओं से क्या बोले झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री...

ईडी ने आलमगीर आलम से 9 घंटे से अधिक समय तक की पूछताछ, क्या बोले झारखंड के मंत्री- VIDEO
Krishna Singhपीटीआई,रांचीTue, 14 May 2024 11:04 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में झारखंड के मंत्री और कांग्रेस नेता आलमगीर आलम से मंगलवार को नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम सुबह करीब 11 बजे ईडी कार्यालय पहुंचे। पूछताछ के बाद रात करीब साढ़े आठ बजे वह ईडी कार्यालय से बाहर निकले। ईडी कार्यालय से बाहर आने के बाद संवाददाताओं ने जब उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही तो उन्होंने केवल इतना कहा कि जो भी सवाल पूछे गए मैंने उनका जवाब दिया है।

कानून का पालन करता हूं- आलम
जब उनसे पूछा गया कि क्या ईडी ने उन्हें कल फिर से बुलाया है। इस पर आलमगीर आलम ने कहा कि वह इसका जवाब बाद में देंगे। वहीं सूत्रों ने बताया कि आलमगीर आलम को बुधवार को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया गया है। इससे पहले दिन में ईडी कार्यालय में दाखिल होने से पहले आलमगीर आलम ने संवाददातओं से कहा कि मैं कानून का पालन करता हूं। मैं ईडी कार्यालय में पूछताछ का सामना करने के लिए आया हूं।

32 करोड़ से अधिक जब्त
बता दें कि ईडी ने पिछले हफ्ते आलमगीर आलम के निजी सचिव और राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी संजीव कुमार लाल (52) और उनके घरेलू सहायक जहांगीर आलम (42) को गिरफ्तार कर लिया था। ईडी ने जहांगीर आलम से जुड़े एक फ्लैट से 32 करोड़ रुपये से अधिक नकदी जब्त की थी। ईडी ने 70 वर्षीय आलमगीर आलम को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए मंगलवार को रांची स्थित अपने जोनल कार्यालय में पूछताछ के लिए हाजिर होने को कहा था। 

ग्रामीण विकास विभाग में भ्रष्टाचार से संबंधित है जांच
बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच राज्य के ग्रामीण विकास विभाग में कथित भ्रष्टाचार से संबंधित है। सितंबर 2020 का मनी लॉन्ड्रिंग मामला राज्य ग्रामीण कार्य विभाग के पूर्व मुख्य अभियंता वीरेंद्र कुमार राम एवं अन्य के खिलाफ झारखंड पुलिस की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा की ओर से दर्ज मामले और दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा की ओर से मार्च 2023 में दर्ज की गई प्राथमिकी पर आधारित है। ईडी ने अभियंता वीरेंद्र कुमार राम को पिछले साल गिरफ्तार किया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें