ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडझारखंड में ईडी का ऐक्शन, जमीन घोटाले में एक और गिरफ्तारी; शेखर कुशवाहा पर क्या आरोप

झारखंड में ईडी का ऐक्शन, जमीन घोटाले में एक और गिरफ्तारी; शेखर कुशवाहा पर क्या आरोप

ईडी ने जांच में पाया है कि शेखर कुशवाहा ने अपने सहयोगी प्रियरंजन सहाय, विपिन सिंह, इरशाद अंसारी, अफसर अली समेत अन्य के साथ मिलकर सरकारी कर्मी भानु प्रताप प्रसाद की मदद से फर्जी डीड बनाई।

झारखंड में ईडी का ऐक्शन, जमीन घोटाले में एक और गिरफ्तारी; शेखर कुशवाहा पर क्या आरोप
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीThu, 13 Jun 2024 06:24 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची जमीन घोटाले में ईडी ने जमीन कारोबारी शेखर कुशवाहा उर्फ शेखर महतो को गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार को एजेंसी ने समन भेजकर शेखर को रांची जोनल ऑफिस में पूछताछ के लिए बुलाया था, जहां पूरे दिन पूछताछ के बाद उसे शाम 7.15 बजे गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में नहीं कर रहा था सहयोग
ईडी बीते कुछ दिनों से लगातार शेखर को पूछताछ के लिए बुला रही थी, लेकिन वह पूछताछ में एजेंसी को सहयोग नहीं कर रहा था। ईडी ने पहली बार 22 अप्रैल 2023 और दूसरी बार 16 अप्रैल 2024 को शेखर कुशवाहा के ठिकानों पर छापेमारी की थी।

जमीन का फर्जी दस्तावेज बनाने में भूमिका
ईडी ने जांच में पाया है कि शेखर कुशवाहा ने अपने सहयोगी प्रियरंजन सहाय, विपिन सिंह, इरशाद अंसारी, अफसर अली समेत अन्य के साथ मिलकर सरकारी कर्मी भानु प्रताप प्रसाद की मदद से फर्जी डीड बनाई। उसने बरियातू की 4.83 एकड़ जमीन के रैयत जितुआ भोक्ता का नाम बदल समरेंद्र चंद्र घोषाल के नाम की इंट्री कर गैरमजरुआ को सामान्य खाते की जमीन में बदल दिया था। इसके बाद 22.61 करोड़ की जमीन को 100 करोड़ से अधिक कीमत में बेचने की तैयारी थी। ईडी गिरोह के सभी सदस्यों को पूर्व में ही जेल भेज चुकी है। ईडी गुरुवार को शेखर को कोर्ट में पेश करेगी, साथ ही उसे रिमांड पर भी लिया जाएगा।

यह भी जानिए: हेमंत की जमानत अर्जी पर ईडी ने रखा अपना पक्ष
पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जमानत याचिका पर झारखंड हाईकोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। ईडी ने पक्ष रखते हुए हेमंत के दावों को गलत बताया। ईडी ने कहा कि बड़गाईं की जमीन अपने नाम करने के लिए हेमंत ने सरकारी कर्मचारियों-अधिकारियों की मदद ली। इसके पक्ष में कई दलीलें दीं। इसके बाद जस्टिस आर मुखोपाध्याय की अदालत ने गुरुवार को भी सुनवाई जारी रखने की बात कही। उल्लेखनीय है कि सोमवार को हेमंत की ओर से पक्ष रखते हुए कहा गया था कि उनके खिलाफ मनी लाउंड्रिंग केस नहीं बनता है। यह सिविल विवाद है।