DA Image
7 अगस्त, 2020|6:24|IST

अगली स्टोरी

बंगाल सरकार के रुख से धनबाद होकर चलनेवाली नई ट्रेनों पर ग्रहण

कोरोना के बढ़ते मामले के मद्देनजर बंगाल सरकार ने एक बार फिर दूसरे राज्यों से बंगाल आनेवाली ट्रेनों को बंद करने की मांग रेलवे बोर्ड से की है। बंगाल सरकार के इस रुख से धनबाद होकर प्रस्तावित नई ट्रेनों पर भी ग्रहण लग गया है। 

छह जुलाई से बंगाल सरकार के निवेदन पर छह शहरों की हवाई सेवा बंद हो रही है। लिहाजा नई ट्रेनें तो खटाई में पड़ ही गई हैं। साथ ही पहले से चल रही ट्रेनों पर भी खतरा मंडराने लगा है।

फिलहाल देश में 130 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं। इसमें धनबाद होकर चार ट्रेनें हैं। हावड़ा-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, हावड़ा-जोधपुर एक्सप्रेस, हावड़ा-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस और कोलकाता-अमृतसर दुर्गियाना एक्सप्रेस चल रही हैं। बंगाल सरकार की मांग के बाद इन ट्रेनों के परिचालन पर संशय के बादल छा गए हैं जबकि नई ट्रेनों के पटरी पर उतरने की संभावना छिन्न हो गई हैं। इससे पहले स्टॉपेज को लेकर झारखंड सरकार ने भी रेलवे बोर्ड को पत्र भेजा था, जिसके बाद झारखंड के कई स्टेशनों पर स्पेशल ट्रेनों का ठहराव बंद कर दिया गया था।
दिल्ली जाने से लोग कर रहे हैं परहेज: कोरोना के भय के कारण दिल्ली जानेवाले परहेज कर रहे हैं। राजधानी एक्सप्रेस में सभी श्रेणियों को मिला कर हर दिन 200 से अधिक सीट खाली रह जा रही हैं। पूर्वा एक्सप्रेस में स्लीपर में 20 जुलाई तक बुकिंग अच्छी है, लेकिन इसके बाद आसानी से हावड़ा से सीट खाली मिल रही हैं। इधर हावड़ा-जोधपुर एक्सप्रेस में भी 22 जुलाई के बाद सीट खाली मिल रही हैं।

अमृतसर जाने वाली ट्रेन 22 सितंबर तक है बुक: भले ही दिल्ली जानेवाली ट्रेन के लिए मारामारी नहीं है लेकिन धनबाद से अमृतसर जाने वाली ट्रेन के स्लीपर क्लास में 22 सितंबर तक सीटें फुल हो चुकी हैं। थ्री एसी में भी 19 सितंबर तक जगह नहीं मिल रही है। सेकंड एसी में आठ सितंबर तक सीट बुक हो चुकी हैं।

ट्रेनों में बढ़ रही भीड़ लेकिन नहीं बढ़ रही ट्रेनें : अनलॉक टू शुरू होते ही धनबाद होकर चल रही स्पेशल ट्रेनों में भीड़भाड़ बढ़ने लगी है। कई शहरों में कल-कारखाने खुल गए हैं। धीरे-धीरे मजदूर भी अपने पुराने काम पर लौटने लगे हैं। यात्रियों की भीड़ बढ़ने के बाद भी रेलवे की ओर से नई ट्रेनें नहीं चलाई जा रही हैं। रेलवे ने 12 अगस्त तक सभी रेगुलर ट्रेन को रद्द रखने की घोषणा की है। इस बीच शिप्रा और सियालदह-अमृतसर जलियांवाला बाग एक्सप्रेस को स्पेशल के रूप में पटरी पर उतारने पर विचार चल रहा था।   

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Eclipse on new trains running through Dhanbad due to the attitude of Bengal Government