ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडएक पेड़ के लिए बहाया 'अपनों' का खून, भाई ने बेटों के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काट डाला; तीन की मौत

एक पेड़ के लिए बहाया 'अपनों' का खून, भाई ने बेटों के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काट डाला; तीन की मौत

गुमला में एक भाई ने अपने ही हाथों अपने भाइयों की हत्या कर दी। पेड़ काटने कोलेकर उनमें विवाद हुआ जो इतना बढ़ गया की एक ने टांगी से काटकर अपनों का खून कर दिया। गांव में सन्नाटा पसर गया है।

एक पेड़ के लिए बहाया 'अपनों' का खून, भाई ने बेटों के साथ मिलकर कुल्हाड़ी से काट डाला; तीन की मौत
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,सिसई (गुमला)Sat, 10 Feb 2024 10:56 AM
ऐप पर पढ़ें

गुमला के सिसई थाना क्षेत्र के पोटरो सकरौली रोड के बीच कांशी डांड के समीप टांगी से काट कर तीन लोगों की हत्या कर दी। घटना में मारे गये नागेश्वर साहु व मुन्ना साहु और हत्या का आरोपी नंदकिशोर साहु तीनों आपस में सगे भाई है। तीनों भाई की पुस्तैनी जमीन गांव के काड़ोकोचा के समीप है। जमीन समतलीकरण के लिए फोरलेन सड़क निर्माण करा रही आरकेडी कंपनी को दिया गया था। समतलीकरण के दौरान खेत में स्थित एक पेड़ गिरा गया था।

इस पेड़ को काटने के लिए शुक्रवार को नंदकिशोर साहु अपने दो बेटा ससेंद्र साहु व शिव कुमार साहु के साथ टांगी लेकर गया हुआ था। पेड़ और जमीन जमाबंदी में था। जानकारी मिलने पर नागेश्वर साहु अपने बेटे पवन साहू और उसका भाई मुन्ना साहु अपने बेटे विकास साहु के साथ खेत पर जाकर पेड़ काटने से मना करने लगा। इस पर दोनों पक्षों में विवाद होने गया और सभी खेत से सड़क पर आ गये। 

इसी दौरान बात बढ़ गई। इससे आक्रोशित हो कर नंदकिशोर ने अपने दोनो बेटे के साथ मिलकर अपने ही दो भाई नागेश्वर साहू ,मुन्ना साहु व भतीजा पवन साहु को दौड़ा कर टांगी से काट डाला, जबकि एक भतीजा विकास साहू गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। उसे बेहतर इलाज के लिए रांची ले जाया गया। जहां वह जीवन और मौत के बीच जूझ रहा है। इस सनसनीखेज घटना में नंदकिशोर साहु का एक बेटा ससेंद्र साहु भी जख्मी हो गया है।

सकरौली में माहौल गमगीन 

सिसई के पोटरो गांव में तीन लोगों का बड़े ही बेहरमी से हत्या होने व दो लोगों का गंभीर रूप से घायल होने की वजह से सिसई प्रखंड मुख्यालय व मृतक के गांव- घर सकरौली में गमगीन माहौल रहा। गांव के अधिकांश घरों में ताला लटका हुआ दिखा और गांव के गली में सन्नाटा पसरा रहा। लोगों अपने घरों को जैसे तैसे बंद कर घटना स्थल पर पहुंचे और अपने ही भाई -भतीजा की दर्दनाक हत्या को देखते ही लोगों के आंखों में आसू आ गये। घटना के बाद से गांव में सन्नाटा पसरा है।

सात साल से चल रहा जमीन का विवाद 

जिस जमीन विवाद में हत्या की यह नृशंस वारदात हुई, वह विवाद बीते सात साल से चल रहा था। शुक्रवार को नंदकिशोर साहू अपने दो बेटो ससेंद्र और पप्पू साहू के साथ पोटरो व सकरौली गांव के बीच स्थित जमीन पर जेसीबी लगाकर समतल करा रहे थे। इस जमीन पर एक सूखा पेड़ था, जिसे नंदकिशोर अपने बेटों के साथ टांगी से काट रहे थे। उसी दौरान वहां नागेश्वर साहू, पवन, मुन्ना और विकास पहुंचे और पेड़ पर दावेदारी करते हुए हिस्से की मांग करने लगे। इसे लेकर विवाद होने लगा, जो झगड़े में बदल गया। इसके बाद नंदकिशोर साहू ने अपने दोनों बेटों के साथ मिलकर सभी पर टांगी से हमला बोल दिया। तीनों ने नागेश्वर साहू, पवन, मुन्ना और विकास को दौड़ा-दौड़ाकर टांगी से काट डाला। इससे नागेश्वर साहू, पवन और मुन्ना की मौके पर ही मौत हो गई जबकि विकास साहू गम्भीर रूप से जख्मी हो गया।

एसपी पहुंचे, की छानबीन

हत्या के बाद देर शाम को एसपी हरविंदर सिंह घटना स्थल पहुंचें। इस दौरान उन्होंने लोगों से घटना संबंधित कई तरह की जानकारी ली। साथ ही एसपी ने थानेदार मीनकेतन कुमार को निर्देश देते हुए कहा कि घटना में हुई हत्या को लेकर थाना में कांड दर्ज करते हुए आरोपी पर कड़ी कार्रवाई करें। व्यवस्था बनाए रखने के लिए कैंप करने का निर्देश दिया है।

दौड़ा-दौड़ा कर टांगी से काटा

नंदकिशोर साहू के पुत्र शिवकुमार साहू उर्फ पपू ने बताया कि उसके चाचा नागेश्वर साहु व मुन्ना साहू पेड़ काटने गये हुए थे। उन्होने फोन करके उसके बड़े भाई ससेंन्द्र साहु को पेड़ का बंटवारा करने के लिए बुलाया। कुछ बातों को लेकर उसके बड़े भाई से तू-तू,मैं-मै होने लगी। आवाज सुनकर बगल में बकरी चरा रहे उसके पिता पहुंचे ,तो उन लोगों ने उसके भाई के पैर को टांगी से काट दिया और पिताजी को भी जमीन में पटककर गला दबा रहे थे। आवाज सुनकर पीछे से वह भी पहुंचा और नागेश्वर साहु से टांगी को लूट कर चारों लोगों को दौड़-दौड़ा कर काट दिया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें