DA Image
6 जून, 2020|12:50|IST

अगली स्टोरी

दुमका क्वारंटाइन सेंटर में दूसरे गांव के लोगों को रखने पर विवाद, तीर-धनुष ले हाट बंद कराया

                                                                                                                                                                                  -

क्वारंटाइन सेंटर में दूसरे गांव के लोगों को रखने के विरोध के बीच शनिवार को कुंजी गांव के कुछ लोग लाठी-डंडा, तीर-धनुष व परंपरागत हथियारों से लैस होकर पहुंचे व साप्ताहिक कुरमा हाट को बंद करा दिया। बीडीओ, सरैयाहाट  दयानंद जायसवाल ने कहा कि कुशियारी गांव के ग्रामीण वहां पर क्वारंटाइन सेंटर को ही रखने का विरोध कर रहे हैं। कुशियारी पंचायत में ही दूसरे स्थान पर क्वारंटाइन सेंटर बनाने के लिए जगह देख रहे हैं।

कुंजी गांव के लोगों का आरोप है कि हंसडीहा के कुशियारी गांव स्थित स्कूल में बने क्वारंटाइन सेंटर में उनके गांव के 5 लोगों को कुशियारी के लोगों ने यह कह कर भगा दिया कि उनलोगों के यहां रहने से कोरोना बीमारी फैलेगी। कुंजी  के लोगों का आरोप है कि इस क्वारंटाइन सेंटर में उनके गांव के लोगों से मारपीट भी की जाती है। कुरमा हाट बंद कराने पहुंचे कुंजी गांव के लोगों ने डुगडुगी व मांदर भी बजाया। इससे दुकानदार और ग्राहक दहशत में आ गए। पारंपरिक हथियारों से लैस ग्रामीणों ने कहा कि कुशियारी पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में भेदभाव किया जा रहा है।  घटना की सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी अमित लकड़ा ने बताया कि गुरुग्राम से आए 5 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया था, मगर वे कुशियारी के क्वारंटाइन सेंटर में ही रह रहे थे। जानकारी मिलने पर सभी 5 लोगों को होम क्वारंटाइन में भेजा गया। इससे यह अफवाह फैल गई कि उन्हें क्वारंटाइन सेंटर से भगा दिया गया। थाना प्रभारी ने कहा कि मारपीट नहीं हुई। 

शराब पीकर कुछ लोग करते हैं मारपीट: कुशियारी के पूर्व मुखिया रामचंद्र हेम्ब्रम ने बताया कि गांव के कुछ लोग शराब पीकर लोगों से यह कहकर मारपीट करते हैं कि उनसे कोरोना संक्रमण फैलेगा। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Dispute over keeping people from other village in Dumka Quarantine Center shut down arrow-bow and haat