DA Image
24 सितम्बर, 2020|10:05|IST

अगली स्टोरी

धनबाद : पीएमसीएच में पीजी की पढ़ाई की उम्मीद खत्म, जानें कहां हुई चूक

छह वर्षों से पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी) के लिए जद्दोजहद कर रहा पाटलिपुत्र मेडिकल कॉलेज (पीएमसी) धनबाद इस बार इंडियन मेडिकल काउंसिल (एमसीआई) में इसके लिए आवेदन ही नहीं कर सका। आवेदन की तिथि समाप्त होने हो गई। इसके साथ सत्र 2021-22 में पीजी की पढ़ाई शुरू होने की उम्मीद भी खत्म हो गई। अधिकारियों की मानें तो इसके लिए सरकार को लिखा गया था। सरकार से अंडरटेकिंग और इसेंसियलिटी सर्टिफिकेट (अनिवार्यता प्रमाण पत्र) नहीं मिल सका। इसके कारण पीएमसी एमसीआई को पीजी के लिए आवेदन नहीं कर सका। 

बता दें कि पीएमसी में 15 विषयों में पीजी शुरू करने की तैयारी चल रही थी। इन विषयों में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर का यूनिट बन रही थी। इसके लिए सरकार के अंडरटेकिंग और इसेंसियलिटी सर्टिफिकेट के साथ एमसीआई में आवेदन करना पड़ता है। इसके बाद एमसीआई की टीम कॉलेज का निरीक्षण करती है। निरीक्षण के केंद्र में कॉलेज और हॉस्पिटल की आधारभूत संरचना, मैनपावर समेत अन्य बिन्दु होते हैं। इस निरीक्षण के लिए एमसीआई को प्रति विषय दो लाख रुपए (प्लस जीएसटी) देना होता है। पीएसमीएच प्रबंधन ने पीजी के लिए आवेदन करने की तैयारी कर रखी थी। सरकार को अंडरटेकिंग और इसेंसियलिटी सर्टिफिकेट के लिए लिखा भी गया था, लेकिन समय पर सरकार दोनों चीजें पीएमसीएच को नहीं दे सकी। इसके कारण आवेदन नहीं किया जा सका और अंतिम तिथि निकल गई। 

इन विभागों के लिए करना था आवेदन   
पीएसमीएच इस बार 15 विभागों में पीजी शुरू करने के लिए आवेदन करनेवाला था। इसमें मेडिसिन, सर्जरी, गायनी, ईएनटी, ओफ्थाल्मोलोजी, एनेस्थीसियोलॉजी, ऑथोर्पेडिक, पैथोलॉजी, फैमिली मेडिसिन, जेरिएट्रिक मेडिसिन, पीएसएम, एनाटॉमी, एफएमटी आदि विभाग थे।

अब तिथि बढ़ने का इंतजार
अधिकारियों की मानें तो पीएमसीएच अब पीजी के लिए आवेदन करने की तिथि बढ़ने का इंतजार कर रहा है। एमसीआई से तिथि बढ़ने की स्थिति में सरकार को दोबारा लिखा जाएगा। हालांकि तिथि बढ़ने की संभावना काफी कम है।


 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Dhanbad: Expectation of PG studies in PMCH ends know where there was a lapse