DA Image
6 अप्रैल, 2020|6:03|IST

अगली स्टोरी

कोरोना: सोशल डिस्टेंसिंग के डर ने बनाया हैवान, दुकानदार को पीट-पीटकर मार डाला

woman strangled to death in hajiyapur bareilly police relatives are suspected of murder


कोरोना वायरस के चलते सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा जा रहा है लेकिन झारखंड में एक दुकानदार को एक व्यक्ति को ऐसा कहना इतना भारी पड़ा कि उसी अपनी जान गंवानी पड़ी। बताया जा रहा है कि पलामू जिले में कोरोना संक्रमित एक शख्स के घर से निकलने पर 50 साल के एक दुकानदार के साथ विवाद हो गया। इसके बाद उस शख्स ने दुकानदार की पीट-पीटकर हत्या कर दी। 

यह घटना  मंगलवार की शाम हुई इस घटना में दो अन्य घायल हो गए, जिन्हें पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद देश में शायद यह पहला मामला है जब सोशल डिस्टेंसिंग के विवाद में किसी की जान गई है।

पलामू के एसपी अजय लिंडा ने बुधवार को बताया कि हैदराबाद और बेंगलुरु से रविवार को अपने गांव चक-उदयपुर लौटे चार मजदूरों -राजन साव, आशीष साव, छोटू साव व विक्की साव की प्रारंभिक स्वास्थ्य जांच पाटन प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में की गई थी। उन्हें 14 दिन तक अपने घर में क्वारंटाइन रहने का निर्देश दिया गया था। लेकिन वे मंगलवार की शाम गांव में घूमते हुए काशी साव की दुकान पर पहुंच गए। काशी ने उन्हें कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए गांव में घूमने से मना किया। 

लॉकडाउन के दौरान घंटी बजाकर घरों में सिलेंडर पहुंचाएगा डिलिवरी ब्वॉय

इस पर चारो भड़क गए और मारपीट शुरू कर दी। मारपीट में काशी साव बुरी तरह घायल हो गए, जिन्हें पीएमसीएच में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान बुधवार की सुबह उनकी मौत हो गई। मारपीट में घायल काशी के बेटे राकेश को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसपी ने बताया कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona: Fear of social distancing has created havoc beating shopkeeper to death