ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडचंपाई सोरेन के सामने सियासी संकट, दिल्ली में डटे नाराज कांग्रेस विधायक; कब लौटेंगे रांची?

चंपाई सोरेन के सामने सियासी संकट, दिल्ली में डटे नाराज कांग्रेस विधायक; कब लौटेंगे रांची?

Jharkhand Politics:कांग्रेस के कुछ नाराज विधायकों का कहना है कि उन्हें पार्टी अध्यक्ष के निर्देश का इंतजार है। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता लगातार अंसतुष्ट विधायकों को रांची लौटने के लिए कह रहे हैं।

चंपाई सोरेन के सामने सियासी संकट, दिल्ली में डटे नाराज कांग्रेस विधायक; कब लौटेंगे रांची?
Abhishek Mishraहिन्दुस्तान,रांचीTue, 20 Feb 2024 08:10 AM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन के मंत्रिमंडल विस्तार में कांग्रेस कोटे के पुराने मंत्रियों को ही फिर से मौका दिए जाने से नाराज पार्टी के आठ विधायक दिल्ली में डटे हुए हैं। मंत्रिपरिषद में नए चेहरों को शामिल करने की इनकी मांग पूरी होती नहीं दिख रही है।

झारखंड कांग्रेस के असंतुष्ट विधायक रविवार को कांग्रेस नेता उमंग सिंघार और झारखंड कांग्रेस प्रभारी गुलाम अहमद मीर से मुलाकात और विमर्श के बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और महासचिव केसी वेणुगोपाल से मिलने का इंतजार कर रहे हैं। देर शाम खबर लिखने तक मुलाकात की प्रतीक्षा की जा रही थी। हालांकि आलाकमान को नाराज करने के पक्ष में विधायक नहीं हैं।

कांग्रेस के कुछ नाराज विधायकों का कहना है कि उन्हें पार्टी अध्यक्ष के निर्देश का इंतजार है। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता लगातार अंसतुष्ट विधायकों को रांची लौटने के लिए कह रहे हैं। विधायकों से कहा गया है कि अपनी बात रखने का उनका यह तरीका सही नहीं है। विधायकों से सोमवार को संपर्क होता रहा। सूत्रों के अनुसार मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से उनकी मुलाकात कराई जा सकती है। विधायक भी समाधान की ओर बढ़ना चाहते हैं, लेकिन वह आधिकारिक तौर पर मीडिया से कुछ कहने से बच रहे हैं।

अनुशासनात्मक कार्रवाई विधायकों पर मुमकिन

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस आलाकमान ने झारखंड के विधायकों के दिल्ली में पहुंच कर दबाव की राजनीति करने के इस पूरे प्रकरण को गंभीरता से लिया है। विधायकों का आचरण अनुशासनात्मक कार्रवाई के दायरे में भी आ सकता है। यही वजह है कि इन्हें अब तक अधिक रिस्पांस नहीं मिल रहा है। असंतुष्ट विधायकों के संपर्क में कांग्रेस के जो वरीय नेता हैं, वह बातचीत के संबंध में आधिकारिक रूप से बयान नहीं दे रहे हैं। सूत्रों के अनुसार प्रदेश कांग्रेस के स्तर से दिल्ली में डटे विधायकों को रांची वापस लाने का प्रयास किया जा सकता है।

दो विधायक चाहते हैं दिल्ली में डटे रहना

दिल्ली में डेरा डाले बैठे कांग्रेस के असंतुष्ट आठ विधायकों में छह रांची वापस आना चाहते हैं। एकजुट होकर रांची से दिल्ली जाने के क्रम में उन्हें यह उम्मीद थी कि आलाकमान के स्तर से उनकी बातें तुरंत सुनी जाएंगी। दो दिन गुजरने के बाद भी आलाकमान का बुलावा नहीं आने से वह पशोपेश में हैं। सूत्रों के अनुसार दिल्ली से लौटने का विचार रखने वाले विधायक, दिल्ली में ही डटे रहने का मन बनाए हुए दो विधायकों से विमर्श कर रहे हैं। सभी एकमत बनाकर जल्द रांची लौटना चाहते हैं। आलाकमान से बुलावा का इंतजार बढ़ने के बाद ये विधायक अपनी रणनीति को लेकर भी संशय में बताए जा रहे हैं।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें