ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंडनक्सलियों का गढ़ रहे बूढ़ा पहाड़ में पहुंचेगी विकास की रौशनी, सीएम देंगे 100 करोड़ की सौगात

नक्सलियों का गढ़ रहे बूढ़ा पहाड़ में पहुंचेगी विकास की रौशनी, सीएम देंगे 100 करोड़ की सौगात

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज बूढ़ा पहाड़ का दौरा करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री बूढ़ा पहाड़ विकास परियोजना का शुभारंभ करेंगे। इस परियोजना की कुल लागत 100 करोड़ रुपये होगी। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं।

नक्सलियों का गढ़ रहे बूढ़ा पहाड़ में पहुंचेगी विकास की रौशनी, सीएम देंगे 100 करोड़ की सौगात
Suraj Thakurलाइव हिन्दुस्तान,रांचीFri, 27 Jan 2023 12:31 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज बूढ़ा पहाड़ का दौरा करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री बूढ़ा पहाड़ विकास परियोजना का शुभारंभ करेंगे। इस परियोजना की कुल लागत 100 करोड़ रुपये होगी। परियोजना के पहले चरण में मुख्यमंत्री 5.279 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं की घोषणा करेंगे। योजना के अंतर्गत गढ़वा जिले के टेहरी पंचायत के 11 गांवों तथा लातेहार जिले के अक्सी पंचायत के 11 गांवों का संपूर्ण विकास किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री, ग्रामीणों से वार्ता करेंगे और उनकी समस्याओं से रूबरू होंगे। गौरतलब है कि झारखंड और छत्तीसगढ़ की सीमा के बीच स्थित बूढ़ा पहाड़ लंबे समय तक नक्सल गतिविधियों का केंद्र रहा। अपनी भौगोलिक दुर्गमता की वजह से बूढ़ा पहाड़ दशकों तक नक्सलियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह के रूप में काम आता रहा लेकिन सितंबर में लंबे अभियान के पश्चात इसे नक्सलमुक्त घोषित किया गया। 

सितंबर 2022 में नक्सलमुक्त बना बूढ़ा पहाड़
बूढ़ा पहाड़ को नक्सलमुक्त घोषित किए जाने के बाद यहां अगली चुनौती, ग्रामीणों तक सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाना है। इसी उद्देश्य के तहत नवंबर 2022 में बूढ़ा पहाड़ के अलग-अलग गांवों में आपके अधिकार-आपकी सरकार-आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। बताया जाता है कि अब तक 6 हजार  से ज्यादा ग्रामीण लाभान्वित हुए हैं। मुख्यमंत्री बूढ़ा पहाड़ के टेहरी पंचायत के 150 ग्रामीणों के साथ सीधा संवाद करेंगे। ग्रामीणों के बीच बूढ़ा पहाड़ विकास परियोजना के तहत मिनी ट्रैक्टर, पंपसेट, बीज, एग्रीकल्चर किट, राशन किट, फुटबॉल किट और साइकिल आदि का वितरण किया जाएगा। इस दौरान सीएम हेमंत ऑपरेशन ऑक्टोपस में लगे जवानों से भी बात करेंगे। 


विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित होंगे ग्रामीण
बूढ़ा पहाड़ स्थित विभिन्न गांवों में 90 फीसदी अनुदान पर सरकारी एवं निजी तालाबों का जीर्णोद्धार किया जाएगा। 90 फीसदी अनुदान पर परकोलेशन टैंक का निर्माण होगा। 80 फीसदी अनुदान पर महिला समूहों को मिनी ट्रैक्टर उपलब्ध कराया जाएगा। 90 फीसदी अनुदान पर पंपसेट और पाइप का वितरण करने भी योजना है। 50 फीसदी अनुदान पर वर्मी बैंड वितरण योजना से 29 लाभुकों को लाभान्वित किया जाएगा। मनरेगा के तहत कूप निर्माण योजना दीदी बाड़ी, मेडबंधी निर्माण, टी०सी०वी० निर्माण, समतलीकरण निर्माण, तालाब निर्माण मिट्टी मोरम पथ निर्माण, पोटो हो खेल मैदान, डोभा निर्माण, गाय एवं बकरी  शेड निर्माण समेत कुल 106 योजनाओं का शुभारंभ होगा। 


सौर उर्जा से रौशन होगा दुर्गम बूढ़ा पहाड़
राज्य के मुख्यमंत्री ग्रामीणों को सामाजिक सुरक्षा, स्वरोजगार, सर्वजन पेंशन योजना एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं से नहीं जोड़ेंगे बल्कि बूढ़ा पहाड़ क्षेत्र की आधारभूत संरचनाओं एवं मूलभूत योजनाओं का भी शुभारंभ करेंगे। इसके तहत मदगड़ी पुलिस पिकेट के पास RCC कलभर्ट निर्माण, बुढ़ा पहाड़ क्षेत्र के बुढ़ा ग्राम में 25 केवी सौर विद्युतीकरण की योजना, बिजका पुलिस पिकेट के पास RCC कलभर्ट निर्माण, बुढ़ा पहाड़ में सोलर आधारित 2HP का HYDT के माध्यम से पेयजलापूर्ति योजना, बुढ़ा गाँव (बेसिक कैम्प ) में सोलर आधारित जलापूर्ति योजना, आंगनबाड़ी केन्द्र खपरी महुआ एवं हेसातु का मॉडल आंगनबाड़ी में परिवर्तन, बुढ़ा पहाड़ क्षेत्र के सातु, बहेराटोली, तुमेरा, खपरी महुआ, तरेर पोलपोल ग्राम में सौर विद्युतीकरण की योजना के तहत 5 केवी का सौर विद्युत आपूर्ति की योजना का शुभारंभ, हेसातु स्वास्थ्य  उपकेन्द्र का हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर में अपग्रेडेशन एवं महिला स्वयं सहायता समूह को दोना पत्तल यंत्र का वितरण करेंगे।