DA Image
8 जुलाई, 2020|9:53|IST

अगली स्टोरी

सरकारी स्कूलों के बच्चों को ही मिलेगी सरकारी नौकरी : जगरनाथ महतो

भूषण उच्च विद्यालय नावाडीह परिसर में प्रखंड के शिक्षकों व पारा शिक्षकों के साथ शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने परिचर्चा की। कहा कि झारखंड के बच्चों के शिक्षक भाग्य विधाता हैं। पुस्तकें उपलब्ध करवा दी गयी है, शिक्षक घर-घर जाकर बच्चों को शिक्षा देने का काम करें, इससे लॉकडाउन में शिक्षा की कमी पूरी हो जायेगी। मंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार कठोर निर्णय लेने पर विचार कर रही है जिसके तहत सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को सरकारी नौकरी मिलेगी, अब शिक्षक इस काबिल बनाने की जिम्मेदारी उठाएं।

मंत्री ने कहा कि शिक्षा को लेकर काफी गंभीर हूं। मंत्री होने के बावजूद में बंद कमरे में फरमान नहीं देना चाहता हूं। और यही वजह है कि विभाग के सभी शिक्षकों के साथ एक परिवार की तरह प्रखंड स्तर पर परिचर्चा कर सहयोग की अपील कर रहा हूं। कहा कि राज्य सरकार हर बच्चे पर वार्षिक लगभग 20-25 हजार खर्च करती है। वहीं निजी विद्यालयों के शिक्षकों से अधिक सरकारी शिक्षकों को वेतन दे रही हैं, बावजूद निजी विद्यालयों में नामांकन के लिए लंबल लाइन है। कहा कि शिक्षक अभिभावकों की मानसिकता बदलें। कहा कि सरकारी विद्यालयों की दशा बदलने में शिक्षकों को अहम भूमिका निभानी चाहिए। कहा कि शिक्षकों को 95 फीसदी गैर शैक्षणिक कार्य से मुक्त रखने की पहल की जा रही है, अब शिक्षक सिर्फ शिक्षा पर अपना ध्यान केंद्रित करें। कहा कि विद्यालयों में प्रधानाध्याापक का पद शीघ्र ही भरा जाएगा, इसके लिए आधिकारियों को निर्देश दिया गया है

 वहीं सभी पंचायतों में मॉडल स्कूल की स्थापना की जाएगी। जबकि पारा शिक्षकों का मानदेय एक सप्ताह के अंदर भुगतान किया जाएगा, कोरोना के कारण कोषागार बंद रहने के कारण विलंब हुई।
बीईईओ बिनोद कुमार मोदी, बीपीओ भुनेश्वर महतो, सीआरपी नीलकंठ नायक, मदन वर्णवाल, प्राचार्य अखिलेश सिंह, राजू साहु, अरूण वर्णवाल, दुर्गा साहु, राधाकृष्ण प्रसाद, दिलीप सिंह, सगीर अख्तर, दिनेश साव, लोकनारायण प्रेमी, पुष्पा देवी, आरती देवी, गीता कुमारी, आशा देवी आदि थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Children of government schools will get government jobs: Jagarnath Mahato