ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडरांची में छत्तीसगढ़ के ठग लोगों को बना रहे शिकार, ऑनलाइन गेम मंगाने के नाम पर खाते से पैसे गायब

रांची में छत्तीसगढ़ के ठग लोगों को बना रहे शिकार, ऑनलाइन गेम मंगाने के नाम पर खाते से पैसे गायब

एसएसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि इस गिरोह के सदस्य काफी शातिर हैं। पूछताछ में यह पता चला है कि इस गिरोह में दर्जनों लोग जुड़े हुए हैं। इस गिरोह का नेटवर्क पूरे छत्तीसगढ़ में फैला हुआ है।

रांची में छत्तीसगढ़ के ठग लोगों को बना रहे शिकार, ऑनलाइन गेम मंगाने के नाम पर खाते से पैसे गायब
cyber crime
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीSun, 16 Jun 2024 07:59 AM
ऐप पर पढ़ें

झारखंड की राजधानी रांची में छत्तीसगढ़ के साइबर ठगों का गिरोह काफी तेजी से सक्रिए हो गया है। इस गिरोह के गुर्गे रांची में किराए का मकान लेकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। हालांकि रांची की पुलिस की सक्रियता के कारण इन अपराधियों पर कार्रवाई भी की जा रही है। सदर थाने की पुलिस ने इस गिरोह के चार सदस्यों को लिची बगान स्थित ईशा अपार्टमेंट के एक फ्लैट से गिरफ्तार किया है। इस गिरोह के सदस्य ऑनलाइन गेमिंग-सट्टा के नाम पर लोगों से ठगी कर रहे हैं।

गिरफ्तार साइबर अपराधियों में छत्तीसगढ़ के सरगुजा का अरमान नामदेव, करण नामदेव, ललित सोनी और प्रत्युष श्रीवास्तव शामिल है। इन गिरफ्तार ठगों के पास से पुलिस ने लैपटॉप, 25 एटीएम कार्ड, सात चेकबुक, 24 बैंक पासबुक के अलावा 22 मोबाइल फोन, चार सिमकार्ड और एयरटेल का फाइवर बाक्स को जब्त किया है। पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार किया है। गुप्त सूचना मिली कि लिची बगान इलाके में साइबर ठग ठगी कर रहे हैं। जिसके बाद एसएसपी ने सदर डीएसपी संजीव कुमार बेसरा और थानेदार कुलदीप कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। गठित टीम ने शुक्रवार की रात ईशा अपार्टमेंट में छापेमारी कर चारों ठगों को गिरफ्तार कर लिया।

छत्तीसगढ़ से गिरोह हो रहा ऑपरेट, दर्जनों गुर्गे जुड़े हैं
एसएसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि इस गिरोह के सदस्य काफी शातिर हैं। पूछताछ में यह पता चला है कि इस गिरोह में दर्जनों लोग जुड़े हुए हैं। इस गिरोह का नेटवर्क पूरे छत्तीसगढ़ में फैला हुआ है। वहीं से गिरोह ऑपरेट भी होता है। रांची में इस गिरोह का संचालन आरोपी ललित सोनी किया करता था। इस गिरोह का मास्टरमाइंड छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में रहता है उसकी गिरफ्तारी के लिए रांची पुलिस ने छत्तीसगढ़ पुलिस से भी संपर्क किया है। एसएसपी ने बताया कि पकड़े गए ठगों ने अब तक लाखों रुपए की ठगी कर चुके हैं।

एक महीने पहले किराए पर लिया था फ्लैट
वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपियों ने एक महीने पहले ईशा अपार्टमेंट स्थित फ्लैट को किराए पर लिया था। एक सप्ताह पहले ही वे लोग रांची पहुंचकर फ्लैट में रहना शुरू किया था। फ्लैट मालिक से बताया कि है कि वे सभी लोग काम करने के लिए रांची आए हैं।

ऑनलाइन गेम के बहाने खाते की लेते थे जानकारी
गिरफ्तार साइबर अपराधियों ने पुलिस के सामने या खुलासा किया है कि वे लोग ऑनलाइन गेम खिलाने के दौरान अपने शिकार से काफी नजदीक हो जाते थे। जिसके बाद में दूसरे - दूसरे गेम को विदेशों से मंगाने के लिए उनके खातों के डिटेल मांग लेते थे और फिर मौका देखते ही पैसे गायब कर देते थे।