DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › टाटानगर में छपरा-थावे एक्सप्रेस का इंजन पटरी से उतरा, मची अफरातफरी
झारखंड

टाटानगर में छपरा-थावे एक्सप्रेस का इंजन पटरी से उतरा, मची अफरातफरी

हिन्‍दुस्‍तान टीम ,जमशेदपुर Published By: Ajay Singh
Mon, 02 Aug 2021 07:57 AM
टाटानगर में छपरा-थावे एक्सप्रेस का इंजन पटरी से उतरा, मची अफरातफरी

टाटानगर स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर दो की लाइन से लोको शेड जा रहा छपरा-थावे एक्सप्रेस का इंजन पटरी से उतर गया। घटना रविवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे लोको क्रॉसिंग से कुछ दूर की है। इससे यात्री ट्रेनों के आवागमन पर कोई असर नहीं पड़ा। दो दिन बाद फिर एक इलेक्ट्रिक इंजन के बेपटरी होने से रेलकर्मियों में अफरातफरी मच गई।

सूचना पाकर टाटानगर के परिचालन, इंजीनियरिंग व लोको विभाग के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। हालांकि लाइन ड्यूटी के रेलकर्मियों ने तत्काल इंजन को पटरी पर चढ़ाना शुरू कर दिया था। इससे डेढ़ घंटे के अंदर इंजन फिर से पटरी पर दौड़ने लगा। इधर टाटानगर की लाइन पर इंजन बेपटरी की सूचना चक्रधरपुर मंडल मुख्यालय तक पहुंच गई है। इससे सुपरवाइजर की टीम ने घटना के कारणों की जांच कर दी है। जांच रिपोर्ट के अनुसार ड्यूटी में लापरवाही पर विभागीय कार्रवाई होगी। रेलवे गुड्स केबिन के पास तीन दिन पहले डीजल इंजन शंटिंग के दौरान बेपटरी हुआ था, जिसकी जांच अभी चल रही थी कि इलेक्ट्रिक इंजन बेपटरी हो गया।

लाइन क्रेक से हुई घटना: घटनास्थल की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि खंभा नंबर 248 के पास लाइन क्रेक था। जबकि लाइन की ज्वाइंट का नट बोल्ट भी ढीला था। फिलहाल घटना की जांच जारी है। टाटानगर के रेलकर्मियों समेत सुपरवाइजर को कार्रवाई की चिंता सता रही है।

घटनाओं से नहीं छूट रहा पीछा

13 जुलाई की दोपहर मालगाड़ी का पहिया पटरी से उतरा था। इसके बाद टाटानगर रेलवे यार्ड की लाइन नंबर 12 पर 15 जुलाई की रात तक लगातार मालगाड़ियां व इंजन बेपटरी हुए। चार घटनाओं की जांच के लिए अलग-अलग टीमें बनीं। डेढ़ दर्जन से ज्यादा रेलकर्मियों से चक्रधरपुर रेल मंडल मुख्यालय में पूछताछ हुई थी। लेकिन घटनाओं पर रोक लगने के बजाय शुक्रवार व रविवार को फिर डीजल और इलेक्ट्रिक इंजन बेपटरी हो गया।

संबंधित खबरें