अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड: चुटुपालू घाटी में ट्रक से टक्कर के बाद पलटी यात्रियों से भरी बस, लगी आग

bus accident in jharkhand many feared dead

झारखंड में रांची से साहेबगंज जा रही आशीर्वाद नामक यात्री बस रांची-रामगढ़ फोरलेन पर चुटूपालु घाटी के पास रात करीब 9:00 बजे ट्रक से टक्कर के बाद पलट गई। इसके बाद पीछे से आ रहे दो वाहनों की भी बस से भिड़ंत हो गई। टक्कर के बाद बस में आग लग गई। बस से किसी तरह जान बचाकर निकले लोगों ने कहा कि टक्कर के बाद उन्होंने किसी तरह अपनी जान बचाई। टैंकर की टक्कर से मारुति ओमनी चालक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। जबकि एनएचएआई वाहन का कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया।

हादसे के बाद फोरलेन सड़क पर दोनों ओर से एहतियात के तौर पर ट्रैफिक रोक दी गई है। आग लगी गाड़ियों में लगातार विस्फोट हो रहा है। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार इंसानी शरीर जलने जैसी बदबू चारों तरफ फैल गई है। रामगढ़ से रांची आने वाले वाहनों को रामगढ़ में ही रोक दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक दोनों तरफ से कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है।

ऊपर से बरस रहा था पानी, नीचे धधक रही थी आग
घाटी का नजारा काफी भयावह बना था। आसमान से पानी बरस रहा था तो जमीन से आग धधक रही थी, आग की लपटें भी इतनी तेज की बचाओ कर्मी भी घटना स्थल तक पहुंचने से कतरा रहे थे। घटना रात करीब 9 बजे की है, रात के अभी साढ़े दस बज गए है, अभी तक दो दमकल गाड़ियों को छोड़कर कोई घटना स्थल तक पहुंच नहीं पाया।

सर बहुत लोग जिंदा जल गया सर
मौत के मुहं से जिंदा निकले साहेबगंज के एरिया सर्वे अफसर रुंधे गले से फोन पर अपने अधिकारियों को इस त्रासदी में बच जाने की सूचना देते हैं। फ़ोन पर वे कहते हैं सर हमलोग बाल बाल बच गए सर, गाड़ी से हम निकलकर भाग रहे थे और आग हमारे पीछे पीछे चल रही थी। हमलोग तो बच गए सर लेकिन बड़ी संख्या में लोग जिंदा जल गया। हिन्दुस्तान से बात करते हुए वे बताते हैं कि गाड़ी में वे आगे बैठे थे। इसलिये निकल पाए। पीछे ओर स्लीपर में बैठे लोग तो निकल भी नहीं पाए होंगे।

एंबुलेंस और दमकलर्मी पहुंचे
घटनास्थल पर आठ एंबुलेंस और दो अग्निशमन वाहन पहुंच चुके हैं। आग बुझाने के साथ-साथ घायलों को नजदीकी अस्पताल भेजा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bus caught after accident in Chutupalu ghati jharkhand many passengers feared to burn alive