ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंडसचिवालय में भी नोटों की गड्डियां, मिले पैरवी वाले लेटर; कैश कांड में फंसता ही जा रहा मंत्री का PS

सचिवालय में भी नोटों की गड्डियां, मिले पैरवी वाले लेटर; कैश कांड में फंसता ही जा रहा मंत्री का PS

मंत्री कोषांग में ईडी ने बुधवार को पीएस संजीव लाल के चैंबर की गहन तलाशी ली। इस दौरान ड्रॉवर से 2.03 लाख नकद बरामद किए गए। इसमें 1.75 लाख रुपए पांच-पांच सौ के नोटों की गड्डियों में थे।

सचिवालय में भी नोटों की गड्डियां, मिले पैरवी वाले लेटर; कैश कांड में फंसता ही जा रहा मंत्री का PS
Devesh Mishraहिन्दुस्तान,रांचीThu, 09 May 2024 06:27 AM
ऐप पर पढ़ें

ठेकों में कमीशनखोरी और मनी लाउंड्रिंग के खिलाफ ईडी की कार्रवाई तीसरे दिन बुधवार को भी जारी रही। दो दिनों में 37 करोड़ रुपए से अधिक बरामदगी के बाद ईडी टीम बुधवार करीब एक बजे मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव (PS) संजीव लाल को लेकर सचिवालय पहुंची। वहां ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री कोषांग को पांच घंटे खंगाला। टीम को संजीव के चैंबर से नकद समेत कई दस्तावेज मिले। नेताओं द्वारा लिखे गए दर्जनों पैरवी पत्र भी मिले हैं।

संजीव लाल के चैंबर के ड्रॉवर में रखे थे दो लाख
मंत्री कोषांग में ईडी ने बुधवार को पीएस संजीव लाल के चैंबर की गहन तलाशी ली। इस दौरान ड्रॉवर से 2.03 लाख नकद बरामद किए गए। इसमें 1.75 लाख रुपए पांच-पांच सौ के नोटों की गड्डियों में थे, जबकि 28 हजार रुपए पांच-पांच सौ रुपए के पुराने नोटों की गड्डियों में थे। ईडी को पीएस ने बताया कि ये पैसे गिफ्ट के तौर पर ठेकेदारों से मिले थे। जिसे उसने ड्रॉवर में रख दिया था।

पैरवी वाले लेटर भी मिले
जानकारी के मुताबिक, अधिकतर पैरवी पत्र में सीओ-बीडीओ के तबादले के साथ टेंडर मैनेज को लेकर भी पत्राचार किया गया है। दस्तावेजों की बरामदगी के बाद अब ईडी यह जांच करेगी कि किन-किन पैरवी पत्रों के जरिए विभाग ने तबादले किए। इसमें किन अधिकारियों की संलिप्तता है।

सचिवालय में मचा हड़कंप
सचिवालय में ईडी टीम के पहुंचने से हड़कंप मच गया। मुख्य सचिव ने डीजीपी को बुलाया। दोनों अधिकारियों ने कुछ देर बैठक की। इस दौरान रांची एसएसपी, सिटी एसपी भी पहुंच गए। वीरेंद्र राम से जुड़े मनी लाउंड्रिंग में हो रही कार्रवाई टेंडर से मिली कमीशन राशि की मनी लाउंड्रिंग करने के आरोप में जेल में बंद ग्रामीण विकास विभाग के निलंबित चीफ इंजीनियर वीरेंद्र राम से जुड़े मामले में ईडी सोमवार से कार्रवाई कर रही है। पहले दिन मंत्री आलमगीर के ओएसडी संजीव लाल के नौकर जहांगीर आलम, ओएसडी के करीबी ठेकेदार मुन्ना सिंह के यहां छापेमारी कर 35.23 करोड़ रुपये बरामद किए। वहीं मंगलवार सुबह हटिया स्थित मेकॉन वाटिका अपार्टमेंट में ठेकेदार राजीव सिंह के फ्लैट में छापेमारी के दौरान 2.14 करोड़ बरामद किए।

चुनाव आयोग को दी कैश मिलने की सूचना
ईडी ने दो दिनों में की गई छापेमारी के दौरान बरामद राशि के बारे में चुनाव आयोग को सूचना दी है। इसमें कहा गया है कि अलग-अलग ठिकानों से 35.23 करोड़ और 2.14 करोड़ रुपए बरामद किए गए हैं। ईडी अधिकारियों के अनुसार, चुनाव आचार संहिता लगी होनेे के कारण चुनाव आयोग को इस बारे में पूरी जानकारी दी गई है। चुनाव के दौरान इन पैसों का इस्तेमाल किया जाना था या नहीं, इसकी जानकारी नहीं है।