DA Image
30 मार्च, 2020|5:32|IST

अगली स्टोरी

विवाद के बाद थाने में ही जला दी कानून की किताब

amethi  fire  aged

पाकुड़ जिला के हिरणपुर थाने में सोमवार की देर शाम एक पुलिस पदाधिकारी व मुंशी के बीच अवैध उगाही के विवाद में थाना परिसर में ही रखी कानून की किताब को जला दिए जाने का मामला सामने आया है। 

मिली जानकारी के अनुसार हिरणपुर थाना में पदस्थापित एसआई शिवदयाल पासवान व आरक्षी कंप्यूटर ऑपरेटर अशोक प्रियदर्शी (वर्तमान में थाने के मुंशी पद पर कार्यरत) के बीच उगाही की राशि को लेकर विवाद शुरू हुआ। नशे में धुत मुंशी जब एसआई शिवदयाल पासवान के रूम में गया तो दोनों के बीच काफी देर तक बकझक हुई। दोनों के बीच हाथापाई तक की नौबत आ गई। इस बीच आवेश में मंशी द्वारा कथित रूप से वहां रखी आईपीसी-सीआरपीसी कानून की किताब और पुलिसिया टोपी को आग के हवाले कर दिया गया। थाना परिसर में कई सामान को भी क्षतिग्रस्त किए जाने की सूचना है। बताया जाता है कि तनाव बढ़ता देख थाना प्रभारी बृज मोहन राम ने मुंशी को पकड़कर हाजत में डाल दिया। नशे में धुत मुंशी हाजत के भीतर भी नग्न होकर काफी देर तक उत्पात मचाता रहा।

कैसे शुरू हुआ दोनों के बीच विवाद 

एसआई शिवदयाल पासवान व मुंशी के बीच कथित रूप से उगाही की राशि को लेकर विवाद हुआ था। बताया जाता है कि किसी कार्य के लिए कुछ राशि एएसआई को दी गई थी। इससे नाराज मुंशी ने इस तरह का कारनामा किया। यह मामला लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

थाना प्रभारी बृज मोहन राम ने बताया कि मामले में दोषी मुंशी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Book of law burnt in police station after dispute in jharkhand