DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › BJP पर JMM का वार: सुप्रियो भट्टाचार्य बोले- बेचैनी देख लग रहा है बाबूलाल मरांडी ने ही रचा षड्यंत्र
झारखंड

BJP पर JMM का वार: सुप्रियो भट्टाचार्य बोले- बेचैनी देख लग रहा है बाबूलाल मरांडी ने ही रचा षड्यंत्र

हिन्‍दुस्‍तान टीम ,रांची Published By: Ajay Singh
Tue, 27 Jul 2021 09:19 AM
BJP पर JMM का वार: सुप्रियो भट्टाचार्य बोले- बेचैनी देख लग रहा है बाबूलाल मरांडी ने ही रचा षड्यंत्र

झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने पार्टी मुख्यालय पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार सरकार गिराने की साजिश में गिरफ्तार लोगों के बचाव में 24 घंटे के अंदर बाबूलाल मरांडी के सामने आने से यह प्रतीत हो रहा है कि पूरी पटकथा बाबूलाल मरांडी ने ही लिखी है। भाजपा के एक वरिष्ठ विधायक ने दो दिन पहले ही कहा कि यदि वह विधायकों को खरीदेंगे तो पकड़े थोड़े जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सरकार गिराने की साजिश में पुलिस ने जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, उनके राजनीतिक लोगों से अंतरंग संबंध हैं। राजनीतिक शख्सियतों के साथ सोशल मीडिया पर उनकी तस्वीरें वायरल हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनकी मंशा क्या रही होगी। उन्होंने कहा कि मीडिया की खबरों के मुताबिक महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक, नेता और व्यवसायियों के तार इस मामले में जुड़े हैं। वहां पैसा अधिक है, इसलिए महाराष्ट्र मॉडल को झारखंड में भी अपनाने का प्रयास किया गया।

उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी से कहा है कि अगर उन्हें गिरफ्तार लोगों की मदद ही करनी है तो वह उन्हें उनको न्यायिक अधिकार दिलाने में मदद करें। सत्र न्यायालय से लेकर सर्वोच्च न्यायालय तक मुकदमा लड़वायें। उन्होंने कहा कि बाबूलाल पूरे मामले पर डीजीपी या एडीजी स्पेशल ब्रांच या रांची पुलिस से जानकारी चाह रहे हैं, जबकि यह मामला राजनीतिक षड़यंत्र से जुड़ा है तो इसपर राजनीतिक प्रतिक्रिया ही आयेगी। पूरे मामले पर पुलिस अनुसंधान कर रही है, इसके बाद इस मामले पर आधिकारिक तौर पर जानकारी मिलेगी।

 

बाबूलाल की सदस्यता बर्खाश्त किया जाए

उन्होंने कहा कि बाबूलाल ने पुलिस को अमर्यादित भाषा में धमकी दी इस पर आपत्ति है। वह पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्र में भी मंत्री रह चुके हैं। उनके पास आज भी विधायी शक्ति है, इस शक्ति के बलबूते पर कार्यपालिका को अलोकतांत्रिक तरीके से उंगली दिखाना शर्मनाक है। भाजपा के एक सांसद पूरे मामले को जाति और धर्म से जोड़ रहे हैं। इसपर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए सुप्रियो ने राज्यपाल से आग्रह किया कि वह बाबूलाल के इस वर्ताव पर स्वत: संज्ञान लेते हुए बाबूलाल को विधानसभा से बर्खाश्त करने की कार्रवाई करनी चाहिए।

 

झारखंड में एमपी या कर्नाटका का खेल नहीं चलेगा

उन्होंने कहा कि झारखंड में मध्य प्रदेश या कर्नाटक की तरह विधायकों को इस्तीफा दिलाकर दोबारा चुनाव लड़वाने वाला खेल नहीं चलेगा। कहा कि वह झारखंड के सभी 81 विधायकों को अच्छी तरह जानते हैं और उनकी क्षेत्र में लोकप्रियता से भी वाकिफ हैं। यह झारखंड है यहां देने वाला महामूर्ख है और लेने वाला बहुत शातिर है। कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के किसी भी विधायक को खरीदने के बारे में सोचना भी भाजपा के लिए मुमकिन नहीं है, क्योंकि झामुमो के विधायक पार्टी और क्षेत्र से जुड़े हैं, वह इन बेकार की बातें में नहीं आते।

 

गोड्डा सांसद के कारण ऐम्स देवघर की ओपीडी नहीं हो रही शुरू

देवघर एम्स को लेकर हाईकोर्ट की टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि गोड्डा सांसद के अहंकार के कारण एम्स देवघर का ओपीडी शुरू नहीं हो पा रहा है। सांसद उद्घाटन में व्यक्तिगत रूप से मौजूद होना चाहते हैं, जबकि 26 जून को वर्चुअल कार्यक्रम खुद पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने तय किया था। सरकार ने काफी कोशिश की, लेकिन देवघर एम्स की ओपीडी नहीं शुरू होने के बाद सरकार को हाईकोर्ट में जाना पड़ा।

संबंधित खबरें