Bagun Babu changed the party but did not agree Jharkhand assembly elections - झारखंड चुनाव में अतीत के झरोखे से : बागुन बाबू ने दल तो बदले पर उसूल नहीं DA Image
23 नवंबर, 2019|2:16|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड चुनाव में अतीत के झरोखे से : बागुन बाबू ने दल तो बदले पर उसूल नहीं

सिर्फ पश्चिर्मी सिंहभूम ही नहीं पूरे झारखंड की राजनीति में एक जाना पहचाना नाम और हरदिल अजीज चेहरा था बागुन सुम्ब्रुई का। हमेशा उघारे बदन और एक धोती लपेट कर घूमने वाले इस नेता की कमी इसबार विधानसभा चुनाव में जरूर खलेगी। भले ही बागुन बाबू किसी भी दल में रहे हों लेकिन अपने विचारों से उन्होंने कभी भी समझौता नहीं किया। राष्ट्रीय राजनीति में भी लोग उनके नाम से वाकिफ थे।


1960 में राजनीतिक मंच पर आए: एकीकृत बिहार के जमाने में 60 के दशक से बागुन बाबू पूर्रे  सिंहभूम की राजनीति के केंद्र बिन्दु रहे थे । 1960 से राजनीति में सक्रिय बागुन बाबू झारखंड आंदोलन के अग्रणी नेताओं में एक थे। मरांग गोमके जयपाल सिंह के कांग्रेस में शामिल होने के बाद उन्होंने झारखंड पार्टी की कमान संभाली थी। 1967 में वह पहली बार चाईबासा से विधायक बने थे।

पत्नी को बनवाया विधायक: सांसद बनने के बाद उन्होंने 1990 में अपनी पत्नी मुक्तिदानी सुम्ब्रुई को कांग्रेस की टिकट पर चाईबासा का विधायक बनवाया, जो मंत्री भी बनीं। बागुन बार्बू ंसहभूम से पांच बार सांसद और चाईबासा से चार बार विधायक रहे थे। चार बार लगातार सांसद रहने के दौरान बागुन बाबू ने कई बार दल भी बदला था। अजेय छवि वाले बागुन सुम्ब्रुई पहली बार 1991 र्मे सिंहभूम संसदीय सीट से समाजवादी जनता पार्टी के टिकट पर झारखंड मुक्ति मोरचा के प्रत्याशी कृष्णा मार्डी से पराजित हुए थे। इसके बाद 2004 में कांगेस के टिकट पर पांचवीं बार सांसद चुने गए थे। फिर 2009 में मधु कोड़ा से वह लोकसभा का चुनाव हार गए।


भाजपा में भी रहे: 1991 का लोकसभा चुनाव हारने के बाद बागुन सुम्ब्रुई भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा में उन्हें वह पहचान नहीं मिली जिसके वह हकदार थे। इसके बाद वे फिर कांग्रेस में शामिल हुए और वर्ष 2000 में चाईबासा से चौथी बार विधायक बने। इसबार वह बिहार के लालू प्रसाद की सरकार में मंत्री बने। फिर झारखंड अलग राज्य बनने के बाद वह झारखंड विधानसभा के पहले उपाध्यक्ष बनाए गए । 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bagun Babu changed the party but did not agree Jharkhand assembly elections