ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडबाबूलाल मरांडी की वजह से रांची जेल अधीक्षक का हुआ ट्रांसफर? तारीफ के दो बाद ही हेमंत सरकार ने हटाया

बाबूलाल मरांडी की वजह से रांची जेल अधीक्षक का हुआ ट्रांसफर? तारीफ के दो बाद ही हेमंत सरकार ने हटाया

हेमंत सरकार ने रांची जेल के अधीक्षक निशांत रॉबर्ट को पद से हटा दिया है। इसे लेकर राज्य में राजनीति गरमा गई है। एक हफ्ते बाद ही बेसरा का तबादला कर दिया गया। दो दिन पहले बाबूलाल मरांडी ने तारीफ की थी।

बाबूलाल मरांडी की वजह से रांची जेल अधीक्षक का हुआ ट्रांसफर? तारीफ के दो बाद ही हेमंत सरकार ने हटाया
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,रांचीFri, 29 Dec 2023 07:59 AM
ऐप पर पढ़ें

रांची जेल के अधीक्षक बेसरा निशांत रॉबर्ट को पद से हटा दिया गया। राज्य सरकार के गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने अधिसूचना जारी कर बेसरा निशांत रॉबर्ट को अब कारा प्रशिक्षण संस्थान हजारीबाग के प्राचार्य के पद पर पदस्थापित किया है। गौरतलब है कि ईडी के रडार पर आने के बाद 22 नवंबर को तत्कालीन जेल अधीक्षक हामिद अख्तर को हटाया गया था, उनकी जगह उसी दिन बेसरा निशांत रॉबर्ट को पदस्थापित किया गया था। एक माह, एक हफ्ते बाद ही बेसरा का तबादला कर दिया गया। रांची जेल में हाईप्रोफाइल कैदियों पर सख्ती को लेकर बाबूलाल मरांडी ने रांची जेल के अधीक्षक बेसरा निशांत रॉबर्ट की तारीफ की थी, लेकिन तारीफ के दो दिनों के बाद ही उनका तबादला कर दिया गया।

बाबूलाल मरांडी ने तबादले पर उठाए सवाल 

बाबूलाल मरांडी ने बेसरा निशांत रॉबर्ट के तबादले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि जेल से सरकार चला रहे ईडी के कैदियों को जेल नियम का पालन करवाने के साहस की सजा युवा अधिकारी को मिली है। बाबूलाल ने कहा कि उन्होंने पहले ही अधिकारी के तबादले की आशंका जाहिर की थी, जो सही साबित हुई। संताल आदिवासी समाज के बेटे बेसरा निशांत का बिरसा मुंडा जेल से महज कुछ हफ्तों में ही स्थानांतरण कर दिया गया। भ्रष्टाचारी प्रेम प्रकाश को उन्होंने केबिन में बैठने की जगह नहीं दी। साहिबगंज के पत्थर माफिया जिन्हें मिनी सीएम बोला जाता है, उनके आगे घुटने नहीं टेके। इसलिए ये तबादला होना ही था। बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमंत सरकार की इस सजा को संताल समाज याद रखेगा। राज्य में भाजपा सरकार आने के बाद इस जेल के खेल के पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच कराई जाएगी।

ईडी के आरोपियों के सामने नहीं झुकने पर बदले गए

निर्दलीय विधायक सरयू राय ने तबादले पर बयान जारी कर कहा है कि काराधीक्षक बेसरा निशांत रॉबर्ट एक माह के भीतर बदल दिए गए, कारण कि जेल में बंद ईडी के आरोपियों के सामने नहीं झुके। उन्होंने हाईप्रोफाइल आरोपियों को कैदी होने का एहसास करा दिया। सरयू राय ने कहा कि युवा अधिकारी ने कर्तव्य परायणता का उदाहरण पेश किया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें