ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंडझारखंड में इस साल 975 लोग AIDS संक्रमित, इतने लोगों की हुई जांच; डराने वाले आंकड़े

झारखंड में इस साल 975 लोग AIDS संक्रमित, इतने लोगों की हुई जांच; डराने वाले आंकड़े

झारखंड में वर्तमान में 15326 लोग प्रभावित हैं। एड्स कंट्रोल संगठन के आंकड़ों के अनुसार इस साल 6,22,140 लोगों की जांच की गई, जिसमें 975 लोग संक्रमित पाए गए।

झारखंड में इस साल 975 लोग AIDS संक्रमित, इतने लोगों की हुई जांच; डराने वाले आंकड़े
Abhishek Mishraहिन्दुस्तान,रांचीFri, 01 Dec 2023 09:40 AM
ऐप पर पढ़ें

एक्वायर्ड इम्युनोडेफिशिएंसी सिंड्रोम (एड्स) एक गंभीर बीमारी है। ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस के कारण होने वाली ये बीमारी जानलेवा हो सकती है। जागरुकता बढ़ाने और बचाव के लिए एक दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है।

राज्य में वर्तमान में 15326 लोग प्रभावित हैं। एड्स कंट्रोल संगठन के आंकड़ों के अनुसार इस साल 6,22,140 लोगों की जांच की गई, जिसमें 975 लोग संक्रमित पाए गए। झारखंड में संक्रमितों में 9612 को राशन कार्ड, 7215 को आयुष्मान कार्ड और 7660 को पेंशन का लाभ मिल रहा है। 175 संक्रमित एवं प्रभावित बच्चों को समाज कल्याण विभाग की ओर से चार हजार मासिक अनुदान दिया जा रहा है।

हजारीबाग में सबसे अधिक 3465 संक्रमित

राज्य में सबसे अधिक पीड़ित हजारीबाग जिले के हैं। यहां कुल एड्स संक्रमितों की संख्या 3465 है। विशेषज्ञों के अनुसार प्रवासी मजदूर या लंबी दूरी तय करने वाले ड्राइवरों में एचआईवी की पुष्टि अधिक हो रही है। आकड़ों के अनुसार वर्तमान में पूरे राज्य में 6804 महिला, 7358 पुरुष, 61 ट्रांसजेंडर, 652 युवक और 451 युवतियां संक्रमित हैं। इसवर्ष जेल में बंद 18540 कैदियों की भी जांच की गई, जिसमें 15 एचआईवी पॉजिटिव पाए गए।

इसवर्ष लेट कम्युनिटी लीड थीम पर विभिन्न जिलों में 30 स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। वहीं, एलिमिनेशन ऑफ पैरेंट टू चाइल्ड ट्रांसमिशन ऑफ एचआईवी कार्यक्रम के तहत एचआईवी संक्रमित माता-पिता से होने वाले कुल 83 बच्चों को एड्स संक्रमित होने से बचाया गया है।

एड्स का खतरा कैसे

असुरक्षित यौन संबंध बनाने, जाने और अनजाने उन लोगों के साथ जिनको पहले से संक्रमण है तो आप भी एचआईवी के संपर्क में आ सकते हैं। संक्रमित इंजेक्शन को साझा करने, संक्रमित व्यक्ति का रक्त लेने से भी संक्रमित होने का खतरा है।

इनसे नहीं फैलता संक्रमण

हाथ मिलाने, संक्रमित व्यक्ति के छींकने-खांसने से निकलने वाली ड्रॉपलेट, संक्रमित व्यक्ति के साथ भोजन करने से यह संक्रमण नहीं फैलता है। एचआईवी संक्रमण या एड्स की पुष्टि के लिए खून की जांच जरूरी है।

जिलावार एचआईवी संक्रमितों की संख्या

● बोकारो 622

● देवघर 802

● धनबाद 1345

● डाल्टनगंज 1376

● दुमका 374

● गिरिडीह 1357

● गुमला 163

● हजारीबाग 3465

● जमशेदपुर 2409

● कोडरमा 1060

● रांची 1476

● साहिबगंज 563

● चाईबासा 314

● कुल 15326

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें