DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रांची में लालू से मिलने के बाद मीसा बोलीं, एग्जिट पोल पर कभी नहीं रहा भरोसा 

रिम्स के पेईंग वार्ड में भर्ती लालू प्रसाद से सोमवार को उनकी बड़ी बेटी मीसा भारती और रोहिणी आचार्य ने मुलाकात की। शाम के 4:50 में दोनों बेटी मिलने पहुंची थी। शाम सात बजे के करीब मुलाकात कर बाहर निकली मीसा भारती ने कहा कि एग्जिट पोल से एनडीए खुश हो सकता है। महागठबंधन को न तो कभी एग्जिट पोल पर भरोसा था, न है, न ही रहेगा। हमें जनता पर भरोसा है। हमें ग्राउंड रियलिटी पता है। पोलिंग बूथ से जो रिपोर्ट आ रही है वह कुछ और ही बयां कर रही है। रिपोर्ट है कि 23 मई को भाजपा गई। जहां तक हमारी सीट पाटलिपुत्र की बात है तो वहां की जनता आक्रोशित है। 

मीसा ने कहा कि लालू प्रसाद के साथ सही व्यवहार नहीं किया जा रहा है। विपक्ष के नेता, परिवार के सदस्यों को मिलने नहीं दिया जा रहा है। इसको लेकर भी जनता नाराज है। इसके साथ ही पांच साल तक सरकार रही, जो वादे किए गए पूरा नहीं किया गया। इसको लेकर भी महिलाओं, नौजवानों और किसानों में आक्रोश है। जहां तक एग्जिट पोल की बात है तो 2015 का विधान सभा चुनाव याद करें। कुछ चैनलों द्वारा सुबह 10 बजे ही भाजपा सरकार बना दी गई थी। होली मन गई, लड्डू बंट गए और 12 बजे महागठबंधन की सरकार बनी। उन्होंने कहा कि यह देश का दुर्भाग्य नहीं है कि प्रधानमंत्री मीडिया के सामने सट्टा बाजार की बातें करते हैं। नौजवानों की, किसानों की चर्चा नहीं करते। महिलाओं पर कुछ नहीं बोलते हैं। इससे अंदाजा लगा लीजिए कि जाते-जाते मार्केट में जो उनके पैसे लगे हैं उसे वह निकालना चाहते हैं। 

पलटी मारने के मूड में हैं नीतीश
आज ही के दिन 2014 में नीतीश कुमार द्वारा दिए गए इस्तीफा के सवाल पर मीसा भारती ने कहा कि आज मीडिया में जिस तरह से उनके बयान आ रहे हैं उससे लगता है नीतीश फिर से ईस्तीफा देने के मूड में हैं। फिर से पलटी मारने के मूड में हैं। मीसा ने कहा कि ईवीएम पर सवाल लाजमी है। कहां गए दो लाख ईवीएम। चुनाव आयोग को भी पता नहीं है कि दो लाख ईवीएम कहां गए।

बाहर जाने के लिए न्यायालय में आवेदन करेंगे
मीसा भारती ने कहा कि उनके पिता की तबीयत ठीक नहीं है। पैर में घाव हो गया है। काफी इन्फेक्शन है। एंटीबायोटिक्स पर हैं। लेकिन बेटी होने के नाते चाहेंगे कि उनका बेहतर से बेहतर इलाज हो। आगे न्यायालय में इस प्रकार का आवेदन जरूर देंगे कि उनको बेहतर इलजा के लिए बाहर भेजा जा सके। काफी लंबा चुनाव था, चुनाव में व्यस्त हो गए थे। प्रशासन के द्वारा भी मिलने नहीं दिया जा रहा था। लेकिन प्रशासन का धन्यवाद कि हमलोगों ने आग्रह किया और मिलने दिया गया। उन्होंने कहा कि अभी भी उन्हें लालू प्रसाद के स्वास्थ्य की सही सही जानकारी नहीं दी जा रही है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After meeting Lalu in Ranchi Misa said never trusting on exit poll