अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ हजार उद्योगों को अब मिलेगा ऑनलाइन प्रदूषण सर्टिफिकेट

आठ हजार उद्योगों को अब मिलेगा ऑनलाइन प्रदूषण सर्टिफिकेट

राज्य के आठ हजार उद्योगों के लिए राहत की खबर है। इन्हें हर वर्ष प्रदूषण सर्टिफिकेट लेने के लिए मोटी फाइल नहीं तैयार करनी होगी। झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (जेएसपीसीबी) ने उद्योगों के लिए ऑनलाइन आवेदन (ई-नोट) की व्यवस्था लागू कर रहा है। सूत्रों के अनुसार जेएसपीसीबी की बोर्ड मीटिंग में शुक्रवार को ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था लागू करने पर मुहर लगा दी गई। बोर्ड में 23 प्रस्ताव रखे गए। ज्यादातर पास कर दिए गए। 


बोर्ड बैठक की अध्यक्षता अजय कुमार रस्तोगी (जेएसपीसीबी) ने की। इस दौरान सदस्य सचिव आरएल बक्शी, सरकार की ओर से नामित दो सदस्य रंजीत टिगरीवाल और राजीव शर्मा मौजूद रहे। ई-नोट व्यवस्था के लागू होने से उद्योगों को केवल एक बार सारे कागजात जमा करने होंगे। यह झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड कर सुरक्षित कर लिया जाएगा। इसके बाद हर वर्ष केवल प्रदूषण सर्टिफिकेट के लिए दिए गए ऑनलाइन परफॉरमा को भरना होगा। सारे कागजात हमेशा के लिए डिजिटल रूप में सुरक्षित कर लिए जाएंगे। 

पेशेवर होंगे नियुक्त
जानकारी के अनुसार जेएसपीसीबी में अब विभिन्न पदों पर इंजीनियरिंग, वैज्ञानिक, कानून, अकाउंट्स, प्रशासनिक विद्या के पेशेवरों को ही नियुक्त किया जाएगा। क्षेत्रीय अधिकारियों की संख्या पांच से बढ़ाकर नौ की जाएगी ताकि इनका कार्यक्षेत्र छोटा हो और यह गुणवत्तापूर्ण कार्य कर सकें। 

सहमति दर को कंसल्टेंट करेंगे निर्धारित
जेएसपीसीबी बोर्ड ने विभिन्न उद्योगों को उत्पादन शुरू करने आदि के लिए दी जाने वाली सहमति की फीस कंसल्टेंट से निर्धारित करने का निर्णय लिया। जल्द ही कंसल्टेंट नियुक्त किया जाएगा। 

सभी क्षेत्र अधिकारियों को टैब
जेएसपीसीबी के सभी क्षेत्रीय अधिकारियों को टैब देकर वास्तविक समय पर निगरानी सुनिश्चित की जाएगी। इससे ऑनलाइन चालान काटना मुमकिन होगा। इस व्यवस्था के लागू होने से चालान प्रक्रिया, जुर्माना भुगतान में पारदर्शिता आएगी। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:8000 industries will now get online pollution certificates