DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › बिहार में बंधक बने झारखंड के 6 बच्चों समेत 11 मजदूर मुक्त कराए गए
झारखंड

बिहार में बंधक बने झारखंड के 6 बच्चों समेत 11 मजदूर मुक्त कराए गए

रांची हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Sun, 26 Sep 2021 08:19 PM
बिहार में बंधक बने झारखंड के 6 बच्चों समेत 11 मजदूर मुक्त कराए गए

रांची जिले के चान्हो प्रखंड के सुदूरवर्ती गांव मुरतो के पांच मजदूरों और छह बच्चों को बंधक बनाकर बिहार के छपरा जिले के रसूलपुर थाना क्षेत्र में रखा गया था। सभी 11 लोग रविवार को मुश्किल से रांची पहुंचे। 

बताया जाता है कि पांच लोग अपने गांव से छह बच्चों के साथ काम करने के लिए छपरा जिले के रसूलपुर थाना क्षेत्र के धनकडीह गए थे, इन सभी को धनकडीह में सुनील सिंह द्वारा बनाए गए फार्म हाउस (मुर्गी फार्म) में काम करने के लिए बंधक बनाकर रखा गया था। सुनील ने इनसे कहा था कि आपको ₹14 हजार रुपये प्रति माह और खाना दिया जाएगा। काम के ढाई माह बीतने के बाद जब मजदूरों ने मजदूरी मांगी तो उन्होंने कम पैसे देने की बात कही, जब मजदूरों ने कहा कि हमें 14 हजार रुपये बोलकर लाया गया है, हमें उसी दर से पैसे चाहिए। इस पर फार्म हाउस का मालिक सुनील सिंह भड़क गया, उसने मजदूरों और बच्चों के साथ मारपीट की। 

इसके बाद मजदूरों ने इसकी सूचना बाल कल्याण संघ द्वारा संचालित एकीकृत पुनर्वास संसाधन केंद्र के परियोजना समन्वयक सुनील कुमार गुप्ता को दी। सुनील गुप्ता ने सबसे पहले मजदूरों को सुरक्षा की दृष्टि से थाना भेजा और थाना प्रभारी को दूरभाष पर इन मजदूरों पर हुए अत्याचार की जानकारी दी। मजदूरों ने थाना प्रभारी को लिखित आवेदन देकर मजदूरी दिलाने का आग्रह किया। इसके बाद मजदूरों को मात्र 20 हजार रुपये दिया गया और जबरदस्ती एक दस्तावेज पर सभी का हस्ताक्षर लिया गया। 

थाने से कोई सहायता नहीं मिलती देख सुनील गुप्ता ने एकीकृत संसाधन केंद्र परियोजना समन्वयक द्वारा ट्रेन टिकट कराकर सभी को वापस रांची बुलाया। मजदूरों ने सरकार से अपने काम की मजदूरी दिलाने हेतु आग्रह किया है।

संबंधित खबरें