DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  सिमडेगा  ›  लगातार बारिश से सब्जी की खेती ने बढ़ाई चिंता
सिमडेगा

लगातार बारिश से सब्जी की खेती ने बढ़ाई चिंता

हिन्दुस्तान टीम,सिमडेगाPublished By: Newswrap
Sat, 19 Jun 2021 03:02 AM
लगातार बारिश से सब्जी की खेती ने बढ़ाई चिंता

सिमडेगा जिला प्रतिनिधि

पिछले एक सप्ताह से हो रहे बारिश ने सब्जी की खेती करने वाले किसानो की चिंता बढ़ा दी है। लगातार हो रही बारिश से सब्जी की फसल बर्बाद हो रही है। किसानो ने बताया कि भिंडी, बोदी, झिंगी, परवल, मिर्चा आदि की फसल लगातार हो रही बारिश से खराब हो रही है। किसानो के अनुसार लगातार हो रही बारिश से सब्जी के खेतो में पानी भर जा रहा है। जिससे फसल खेतो में ही बर्बाद हो रही है। वहीं किसानो ने धान की खेती के लिए बारिश को बेहतर बताया है। लेकिन पहले कोरोना की मार फिर सब्जी की खेती में नुकसान से कई किसान आर्थिक नुकसान की बात कहते हुए धान की अच्छी खेती नहीं कर पाने की बात कह रहे है। इधर धान की खेती करने वाले किसान बारिश के बाद खेती की तैयारी में जुट गए है।

खेती बर्बाद होने से बढ़ा है कर्ज

सदर प्रखंड के खूंटीटोली के किसान कुलदीप ने इस वर्ष सब्जी की अच्छी खेती की थी। अच्छी खेती से पैदावार भी अच्छी होने की उम्मीद थी। कुलदीप ने बताया कि लगातार बारिश से सब्जी के बर्बाद होने के असार बढ़ गए है।

कुल्लूकेरा के किसान भी हैं परेशान

कोरोना महामारी के बीच सब्जी की खेती करने वाले किसान टहलू बैगा भी लगातार बारिश से परेशान है। उन्होने बताया कि बारिश से खेतो में लगी सब्जी काफी बर्बाद हुई है।

जलडेगा के किसानो ने लगाई मदद की गुहार

मानसुन में लगातार बारिश से जलडेगा के किसान भी परेशान है। किसान शंकर बडाईक ने बताया कि बारिश से सब्जी की खेती को नुकसान पहुंचा है। जिससे उन्हें आर्थिक नुकसान भी हुआ है। किसानों ने सरकार और प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

बारिश से सब्जी की खेती को नुकसान लेकिन धान को होगा फायदा

कुरडेग प्रखंड के किसान बुधवा गोप ने लगातार बारिश पर खुशी और गम दोनो जाहिर किया है। बुधवा ने बताया कि बारिश से सब्जी की खेती को कुछ नुकसान हुआ है लेकिन धान की खेती के लिए बारिश उपयुक्त है।

पाकरटांड के किसान हैं प्रभावित

पाकरटांड प्रखंड के कई किसान सब्जी की अच्छी खेती करते हैं और शहर के बाजार में बेचते है। किसान अतूल ने बताया कि बारिश से सब्जी की खेती को नुकसान पहुंचने से काफी परेशानी होगी। उन्होने बताया कि पहले कोरोना के कारण सब्जी के फसल को बेचने में परेशानी हुई अब फसल भी बर्बाद हो रही है।

क्या कहते है डीएओ

डीएओ पारसनाथ उरांव ने कहा कि लगातार हो रही बारिश से धान की खेती के लिए काफी उपयुक्त है। उन्होने बताया कि इस बारिश से लत्तेदार सब्जी जैसे भिंडी, बोदी, परवल, झिंगी आदि की खेती को नुकसान पहुंचने की संभावना है।

संबंधित खबरें