DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  सिमडेगा  ›  वैक्सीनेशन के लिए जागरुक हुए है लोग, लेकिन वैक्सीन की कमी कर रही है निराश
सिमडेगा

वैक्सीनेशन के लिए जागरुक हुए है लोग, लेकिन वैक्सीन की कमी कर रही है निराश

हिन्दुस्तान टीम,सिमडेगाPublished By: Newswrap
Fri, 18 Jun 2021 03:10 AM
वैक्सीनेशन के लिए जागरुक हुए है लोग, लेकिन वैक्सीन की कमी कर रही है निराश

सिमडेगा दीपक/रिंकू

कोरोना मुक्त जिले और राज्य के निर्माण में जिला ने गति पकड ली है। प्रशासन एवं जनता के लगातार प्रयास से अब जिले में लोग वैक्सीन के लिए जागरुक हो रहे है और खुद वैक्सीन लेने के लिए टीकाकरण केंद्र तक आ रहे है। पहले जहां टीका लेने वालो की संख्या प्रतिदिन हजार से भी कम होती थी अब यह आंकडा बढकर प्रति दिन पांच हजार के लगभग पहुंच चुका है। गांव देहातो में भी लोग वैक्सीन के लिए आगे आ रहे है। प्रतिदिन प्रशासन के द्वारा पुरे जिले में 80 टीकाकरण केंद्र के अलावे समाजिक एवं धार्मिक संस्थाओ के द्वारा भी शिविर लगाकर वैक्सीनेशन कार्य किया जा रहा है। इसके अलावे जिले के सभी दसो प्रखंडो में मोबाईल वैन के माध्यम से भी टीकाकरण का कार्य कराया जा रहा है। आंकडो के अनुसार बुधवार की शाम तक जिले में 96432 लोग पहला डोज ले चुके है। जबकि 12129 लोगो ने दुसरा डोज भी लिया है। इधर जिले के वनमारा और जेंजरकानी गांव शत प्रतिशत वैक्सीन युक्त गांव भी बन चुका है।

वैक्सीन की कमी बन रही है रोढा

जिले में एक ओर लोगो की जागरुकता से वैक्सीनेशन कार्य ने रफतार पकडा है। वहीं वैक्सीन की कमी लोगो को निराश कर रही है। पिछले कुछ दिनो से 18 प्लस आयु वर्ग वालो के लिए लगातार वैक्सीन का डोज समाप्त हो रहा है। जिससे वैक्सीनेशन कार्य प्रभावित हो रहा है। बताया गया कि जिले में प्रतिदिन 18 प्लस आयु वर्ग के करीब तीन हजार युवा वैक्सीन के लिए केंद्र पहुचते है वहीं 45 प्लस आयु वर्ग में एक हजार से 1500 लोग ही टीका के लिए केंद्र आते है। सीएस डा पीके सिन्हा के अनुसार जिले के पास 18 प्लस वालो के लिए सिर्फ गुरुवार तक के लिए स्टॉक बचा है।

संबंधित खबरें