DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › सिमडेगा › मदरसों एवं अल्‍पसंख्‍यक स्‍कूलों में अनुदान देने के लिए सरकार गंभीर: भूषण बाड़ा
सिमडेगा

मदरसों एवं अल्‍पसंख्‍यक स्‍कूलों में अनुदान देने के लिए सरकार गंभीर: भूषण बाड़ा

हिन्दुस्तान टीम,सिमडेगाPublished By: Newswrap
Fri, 22 Jan 2021 06:44 PM
मदरसों एवं अल्‍पसंख्‍यक स्‍कूलों में अनुदान देने के लिए सरकार गंभीर: भूषण बाड़ा

सिमडेगा हिन्‍दुस्‍तान प्रतिनिधि

शहरी क्षेत्र के भट्ठीटोली में बुधवार की देर शाम विधायक भूषण बाड़ा का विधायक आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मौके पर भाजपा, झापा सहित अन्‍य पार्टी के दर्जनों युवाओं ने कांग्रेस का सदस्‍यता ग्रहण किया। जिसे विधायक ने माला पहनाकर पार्टी में स्‍वागत किया। कार्यक्रम में विधायक ने गरीबों के कंबल का वितरण किया। उन्‍होंने कहा कि पूर्व की भाजपा सरकार ने मदरसों सहित अल्पसंख्यक स्कूलों के अनुदान और शिक्षक नियुक्ति पर रोक लगा दी। उर्दू शिक्षकों की बहाली नहीं हुई। लेकिन राज्य में हमारी सरकार मुस्लिम समुदाय की समस्याओं का समाधान कराने के लिए गम्भीर है। आप अपने मुहल्ले की समस्या मुझे बताएं। मेरी प्राथमिकता में आपका मुहल्ला है। आपकी समस्या को लेकर मैं खुद सीएम पास जाऊंगा। कहा कि सीएम भी आपकी समस्या का समाधान कराने के लिए काफी गंभीर है। सीएम ने राज्य की 117 मदरसों की समस्या दूर करने की घोषणा की है। अब राज्य के 117 मदरसों की 425 शिक्षक और वहाँ के कर्मियों को कई वर्षों बाद अनुदान मिल सकेगा। मदरसों के शिक्षक और कर्मियों की मानदेय भुगतान के लिए 58 करोड़ रुपए जारी कर दिए गए हैं। विधायक ने कहा कि पूर्व की भाजपा सरकार द्वारा जानबूझ कर जानते हुए भी ऐसे अहर्ता जारी किया गया। जिसमें कोई मदरसा अहर्ता पूरा नहीं कर सके। लेकिन सीएम ने सभी मदरसों के बकाया अनुदान की राशि जारी करने का निर्देश दिया। विधायक ने सरकार से सभी राज्य के कॉलेजों और हाइ स्कूलों में भी उर्दू का शिक्षक बहाली कराने की मांग करेंगे। वहीं उन्‍होंने उर्दू भाषा की पढ़ाई भी स्‍कूल, कॉलेज में शामिल कराने की मांग करेंगे। कार्यक्रम में कांग्रेस जिलाध्‍यक्ष अनुप केसरी, विधायक प्रतिनिधि डीडी सिंह, रणधीर रंजन, नवीन बिरेन तिर्की, प्रदीप केसरी, अनिल खेस, अजित नवरंगी, तिलका रमण आदि उपस्थित थे।

संबंधित खबरें