DA Image
22 सितम्बर, 2020|11:35|IST

अगली स्टोरी

नेत्रदान मानव जीवन के कल्याण के लिये सबसे बड़ा दान: सीएस

default image

जिले में मंगलवार को 35 वीं नेत्रदान पखवाडा शुरु किया गया। नेत्रदान पखवाडा के संबंध में सीएस डा पीके सिंहा ने कहा कि नेत्रदान मानव जीवन के कल्याण के लिये सबसे बड़ा दान होता है। मरणोपरांत एक व्यक्ति के नेत्रदान से दो व्यक्तियों के जीवन में रोशनी मिलती है। नेत्रदान को परिवार और समाज की परम्परा बनायें। ताकि आपके दुनिया में नहीं रहने के बाद भी आपकी आंखों से कोई अन्य जरुरतमंद दुनिया को देख सके।

प्रकृति ने मानव को दृष्टि के रूप में एक ऐसा अमूल्य उपहार दिया है, जिसकी कोई कीमत नहीं आंकी जा सकती है। जिस अंधकार में हम एक क्षण बिताने की कल्पना नहीं कर सकते, उसी गहन अंधकार में कितने ही लोग जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं। कहा कि नेत्रदान वह प्रक्रिया है, जिसमें मानव नेत्र दानदाताओं से उनकी मृत्यु के बाद ग्रहण किये जाते हैं। आमतौर पर नेत्रदान के संबंध में अधिक जानकारी आम नागरिकों को नहीं है। हर स्वस्थ व्यक्ति, जिसकी आंखें सही-सलामत हैं वह नेत्रदान कर सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Eye donation is the biggest donation for the welfare of human life CS